कांग्रेस प्रत्याशी ने पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के खिलाफ खोला मोर्चा, कह डाली ऐसी बात कि मचा हड़कम्प

By: Rajesh Tripathi

Published On:
Apr, 20 2019 09:31 PM IST

  • मैं झालावाड़ में जन्मा और पला बढ़ा हूं। झालावाड़ मेरी जन्मभूमि है, मातृभूमि है, कर्म भूमि है।

     


कोटा/झालावाड़. हाड़ौती में इन दिनों सियासी मिजाज गर्म हैं दोनों दलों के सूरमा विरोधियों पर तीखे हमले बोल रहे हैं। कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद शर्मा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री राजे झालावाड़ को अपना परिवार बताकर लोगों को तीस साल से गुमराह करती रहीं। हकीकत यह है कि उन्होंने झालावाड़ को अपने परिवार के लिए साम्राज्य बना रखा है। जहां उनकी आने वाली पीढिय़ां शासन कर सकें, जबकि मैं झालावाड़ में जन्मा और पला बढ़ा हूं। झालावाड़ मेरी जन्मभूमि है, मातृभूमि है, कर्म भूमि है।

झालावाड़ को अपना परिवार बताने वालों ने कभी झालावाड़ के किसी नेता को आगे नहीं बढऩे दिया। जिन्होंने इन्हें झालावाड़ में जमाया, उन्हीं को झालावाड़ की राजनीति से उखाड़ फेंका। जिसने अपना जनाधार बढ़ाने का प्रयास किया, उसे बलपूर्वक दबा दिया, क्योंकि यह अपने राजनीतिक विरोधियों को दबाने के लिए हर तरह के हथकंडे अपनाते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा की भामाशाह योजना निजी चिकित्सालयों को लाभ देने के लिए चलाई गई थी, जबकि कांग्रेस की नि:शुल्क दवा योजना, जांच योजना प्रभावी और सार्थक थी, किन्तु पिछली भाजपा सरकार ने कांग्रेस की लाभकारी योजनाएं बन्द करके जनता के कुठाराघात किया है। उन्होंने कहा कि झालावाड़ के पृथ्वीपुरा में जेके फेक्ट्री को भाजपा के कार्यकर्ता, पदाधिकारी व स्वयं पूर्व मुख्यमंत्री ने उद्योग राज्य मंत्री रहते हुए अधिक धन वसूली का साधन बनाना चाहा। इसी कारण आम जनता की आवाज ने मुझे चुनावी समर में भेज दिया।

 

गहलोत बोले, पीएम जाति के नाम पर वोट मांग रहे, मैंने तो कभी अपनी जाति नहीं बताई..

इधर शुक्रवार को कोटा और झालावाड़ में सीएम अशोक गहलोत ने चुनावी सभा को संबोधित किया। कोटा जिले के सीमल्या टोल प्लाजा के पास शुक्रवार को कांग्रेस की सभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत काफी हमलावर अंदाज में नजर आए। इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उनके निशाने पर रहे। गहलोत ने कहा, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, जो आजकल काफी सेल्फी लेते हैं। उन्हें सेल्फी लेना कांग्रेस ने सिखाया है। वे पूछते हैं, कांग्रेस ने पचास साल में क्या काम किए। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने तब ही इक्कीसवीं सदी का देश को सपना दिखाया था और उस पर आगे बढ़ाया था। गहलोत ने कहा, सामूहिक सहमति से प्रत्याशी का चयन किया है। इस बार का संविधान बचाने का चुनाव है। पिछले चुनाव में काला धन लाने, 15 लाख युवाओं को रोजगार देने और 2 करोड़ नौकरी देने से जैसे कई वादे किए, लेकिन कुछ भी नहीं हुआ। देश की जनता को गुमराह किया गया।

अब प्रधानमंत्री मोदी बार-बार यह कहते हैं कि 70 साल में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया। उनकी यह जुमलेबाजी अब नहीं चलेगी। कभी धर्म के नाम पर कभी राम मंदिर के नाम पर वोट लेने की राजनीति भी नहीं चलेगी। लोकतंत्र में जनता को आलोचना का अधिकार है, लेकिन मोदी आलोचना नहीं सुन पाते, आलोचना होती है तो कहते हैं कि मैं पिछड़े वर्ग से हूं, इसलिए निशाना बनाया जा रहा है। सभा को स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल व प्रत्याशी रामनारायण मीणा ने भी संबोधित किया। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा और कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव तरुण कुमार भी सभा में आए। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट का आना प्रस्तावित था, वे नहीं आए। सभा दोपहर दो बजे होनी थी, लेकिन मुख्यमंत्री 2.54 बजे सभा स्थल पर पहुंचे।

 

Published On:
Apr, 20 2019 09:31 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।