स्वच्छता सर्वेक्षण अवॉर्ड : सिटीजन फीडबैक में कोटा को मिला अवॉर्ड

Cleanliness Survey Award

कोटा. केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय की ओर से राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण की रैंकिंग शनिवार को जारी की गयी । स्वच्छता की दौड़ में इस बार देशभर के 4041 शहर शामिल हैं। राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक श्रेणी में कोटा देश में अव्वल रहा है।

 

विधायक ने कहा कान खोलकर सुन लो, क्षेत्र में पानी आपूर्ति में सुधार नहीं हुआ तो परिणाम बुरे होंगे

केन्द्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने शनिवार को इंदौर में आयोजित समारोह में कोटा नगर निगम को यह पुरस्कार प्रदान किया । महापौर महेश विजय और उपायुक्त राजेश डागा ने यह पुरस्कार ग्रहण किया | प्रदेश के दो शहरों को अवॉर्ड मिला है, फास्टेस्ट मूविंग कैपिटल कैटेगरी में जयपुर को और सिटीजन फीडबैक में कोटा को |

 

राजस्थान के गौरवशाली इतिहास को नहीं संभाल पा रहा विभाग

नगर निगम ने इस बार सफाई व्यवस्था सुधारने के लिए कई नए प्रयास शुरू किए हैं। खासकर डोर टू डोर कचरा संग्रहण, सफाई कर्मचारियों की बायोमैट्रिक हाजिरी जैसे अहम निर्णय लागू किए। जागरुकता के लिए अभियान चलाया। इसलिए सफाई में कोटा की रैकिंग में सुधार की संभावना है।

 

कोटा रेलवे के अदभुत प्रयोग का हो रहा असर,लिया लोगो को सुधारने का जिम्मा

 

निगम के स्वच्छता ब्रांड एंबेसडर अशोक माहेश्वरी का कहना है कि राजस्थान पत्रिका की 'स्वच्छ कोटा-स्वस्थ कोटा' मुहिम के तहत व्यापारियों को दस हजार डस्टबिन वितरित किए गए थे। कचरा डस्टबिन में ही डालने के लिए प्रेरित किया गया था। पिछले स्वच्छता सर्वेक्षण में कोटा 341 वें पायदान पर रहा था।

Web Title "Cleanliness Survey Award: Kota received awards in the Citizen Feedback"

Rajasthan Patrika Live TV

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।