स्मार्ट मीटर पर कांग्रेस का यू टर्न...हटाने का था वादा, अब सख्ती से लगेंगे

By: Rajesh Tripathi

Published On:
Jul, 10 2019 10:53 PM IST

 
  • स्मार्ट मीटर के मुद्दे पर भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता सड़क पर उतरे..

     

कोटा. राजस्थान सरकार के पहले बजट में प्रदेश में स्मार्ट मीटर लगाए जाने की घोषणा से युवा मोर्चा कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए और केशवपुरा चौराह पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पुतला जलाया। कार्यकर्ताओं ने जमकर कांग्रेस सरकार व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। कोटा दक्षिण विधानसभा के कार्यकर्ताओं का कहना है कि पहले ही कोटा की जनता स्मार्ट मीटर के नाम पर अवैध वसूली से परेशान हो चुकी है और अब प्रदेश की जनता से अवैधवसूली की योजना बनाई गई है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही प्रदेश नेतृत्व के आव्हान पर इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा और अधिकारियों को बैठने नहीं देंगे। युवा मोर्चा जिला महामंत्री सुरेश सुवालका के नेतृत्व में कार्यकर्ता बडी संख्या में केशवपुरा चौराहे पर एकत्रित हुए सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। युवा मोर्चा उपाध्यक्ष अंकित श्रंगी ने बताया कि हाल ही में सरकार ने विद्युत उपभोक्ताओं के बिलों में अतिरिक्त जार्च जोडकर उपभोक्ताओं पर आर्थिक भार डाला है और फिर से स्मार्ट मीटर लगाए जाने की घोषणा निर्धन व मध्यमवर्गीय परिवार का जीना मुश्किल कर देगी। युवा मोर्चा ने चेतावनी देते हुए कहा कि जनता के साथ किसी भी सूरत में अन्याय नहीं होने देंगे। यदि शीघ्र इस घोषणा को वापस नहीं लिया तो मोर्चा का एक-एक कार्यकर्ता सरकार की ईट से ईट बजा देगा। युवा मोर्चा नेता विजय यादव ने कहा कि कोटा के विकास के लिए बड़ी-बड़ी बाते की गई थी लेकिन सरकार बनते ही कांग्रेस कार्यकर्ता स्मार्ट मीटर के नाम पर मुंह पर ताला लगाए बैठे हैं। स्मार्ट मीटर प्रदेश में लगाए जाने की बजट घोषणा से कांग्रेस का असली चेहरा सामने आ गया है। आने वाला समय लोगों के लिए परेशानी भरा होगा।

स्मार्ट मीटर को बनाया था मुद्दा
गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में मौजूदा मंत्री और कोटा उत्तर के प्रत्याशी रहे शांति धारीवाल समेत अन्य कांग्रेस नेताओं ने भी स्मार्ट मीटर का विरोध करते हुए जनता से वोट मांगे थे। कांग्रेस ने इसके लिए सरकार के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन भी किया था लेकिन अब गहलोत सरकार ने ही पूरे प्रदेश में स्मार्ट मीटर लगाने की घोषणा कर दी है। इसका विरोध भाजपा कर रही है।

झालावाड़ से लिया गहलोत ने हार का बदला, बजट में खाली रहा 'कोटा '

दिशाहीन व निराशावादी बजट : भाजपा
भाजपा विधायकों व पदाधिकारियों ने राज्य बजट को निराशाजनक व दिशाहीन बताया है। नेताओं ने कहा कि इस बजट में किसानों, युवाओं और बुजुर्गो सहित कामकाजी महिलाओं के लिए मात्र झूठे सपने दिखाए गए है।
विधायक संदीप शर्मा ने कहा कि कोटा की जनता के साथ बजट में धोखा हुआ है। कांग्रेस नेता स्मार्ट मीटर हटाने का जनता से वादा किया था, अब पूरे राजस्थान में स्मार्ट मीटर लगाने की घोषणा की है, यह जनता के साथ छलावा है। विधाकय मदन दिलावर ने इस बजट में कृषक कल्याण कोष के रूप में एक हजार करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है जबकि पूर्ववती्र सरकारों द्वारा भी इस प्रकार के कल्याण कोष का प्रावधान किया जाता रहा है, जो किसानों की समर्थन मूल्य पर खरीदी गई जींसो के भुगतान के उपयोग में लिया जाता रहा है।

हजारों लोगों के सामने राहुल गांधी से किए वादे से
भी मुकर गए गहलोत...

राजावत ने की तारीफ
पूर्व विधायक भवानीसिंह राजावत ने कहा कि केन्द्र सरकार के फैसले क बाद राज्य सरकार ने भी बजट में नदियों के पानी को पाकिस्तान में जाने से रोकने की घोषणा को सहासिक कदम बताया है। पूर्व विधायक हीरालाल नागरने किसान विरोध बजट करार दिया है। पूर्व विधायक विद्याशंकर नंदवाना ने कहा कि सिंचाई और किसान पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। शहर अध्यक्ष हेमन्त विजयवर्गीय ने कहा कि कोटा की उपेक्षा हुई है। प्रदेश उपाध्यक्ष प्रहलाद पंवार, मंत्री छगन माहुर, शहर महामंत्री अरविंद सिसोदिया, जगदीश जिंदल, अमित शर्मा, पूर्व महामंत्री आलोक शर्मा, पूर्व उपाध्यक्ष राजकुमार माहेश्वरी, हनुमान नागर ने भी बजट को दिशाहीन बताया है।

Published On:
Jul, 10 2019 10:53 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।