भाजपा प्रदेश सचिव और शहर अध्यक्ष में नियुक्ति को लेकर ठनी

By: Deepak Sharma

Updated On:
11 Jul 2019, 11:02:21 PM IST

  • पार्टी की नीति के अनुसार निगम चुनाव के लिए जिला संयोजक नियुक्त किया : हेमंत
    पार्टी में ऐसा कोई पद नहीं है, 43 जिला समन्वयक बनाने थे वह मैंने बना दिया: छगन

कोटा. भाजपा BJP नगर निगम चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। निकाय चुनाव के लिए नियुक्तियां को दौर भी शुरू हो गया है, लेकिन नियुक्तियों को लेकर विवाद खड़ा होने लग गया है। नगर निगम चुनाव के लिए जिला संयोजक नियुक्त करने को लेकर प्रदेश सचिव व प्रदेश के निकाय चुनाव प्रभारी छगन माहुर और शहर अध्यक्ष हेमंत विजयर्गीय में ठन गई है।


पार्टी ने हाल में छगन माहुर को निकायों के चुनाव व परिसीमन के लिए प्रदेश प्रभारी बनाया है। माहुर ने निकाय चुनाव के परिसीमन के संबंध में 43 निकाय जिला समन्वयक बनाए हैं। प्रदेश ने कोटा जिला का जिला समन्वयक शहर महामंत्री अरविंद सिसोदिया को नियुक्त किया है।

सिसोदिया परिसीमन को लेकर वार्डों में आपत्तियां दर्ज करवाने में भी सक्रिये हो गए हैं। गुरुवार को हेमंत विजयर्गीय ने शहर महामंत्री अमित शर्मा को नगर निगम क्षेत्र कोटा के परिसीमन के लिए जिला संयोजक बना दिया है। इसको लेकर दोनों में विवाद हो गया है। माहुर ने तो स्पष्ट कह दिया है कि पार्टी में जिला संयोजक का कोई पद ही नहीं है। फिर क्यों बनाया है।


निगम चुनाव के परीसीमन को लेकर आपत्तियां दर्ज करवानी है इसलिए अमित शर्मा का जिला संयोजक पार्टी की नीति के अनुसार ही बनाया है। छगन माहुर को क्यों आपत्ति है, वह मैं नहीं कह सकता हूं, लेकिन मैंने तो पार्टी की नीति के तहत काम किया है। अब तो सह संयोजक व अन्य पदों पर भी नियुक्तियां करनी है। संगठन की मजबूती के लिए काम किया जा रह है।
हेमंत विजयवर्गीय शहर अध्यक्ष भाजपा


पार्टी ने निकाय चुनाव के लिए 43 जिला समन्वयकों की नियुक्ति कर दी है। जिला समन्वयक ही निकायों के परिसीमन व चुनाव संबंधित कार्य देखेंगे। जिला संयोजक क्यों और किस नीति के तहत बनाया है। यह पता नहीं है। जिला संयोजक बनाने की पार्टी की कोई गाइड लाइन भी नहीं है।
छगन माहुर सचिव प्रदेश सचिव भाजपा


read more : ये खेत नहीं है भामाशाह मंडी है, जहां बोरियों में ही फूट पड़ा गेहूं...देखिए तस्वीरें

read more : किशोरपुरा थानाधिकारी समेत तीन पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

read more : घोर कलयुग, अब तो भगवान का घर भी सुरक्षित नहीं...

read more : जिगरी ने 500 रुपए के लिए चीर डाला दोस्त का जिगर

read more : बीच सड़क कार में आग, बाल बाल बचे दम्पती

Updated On:
11 Jul 2019, 11:02:21 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।