किसी ने नहीं सोचा था कि नए साल में ऐसा होगा...लाखों लोगों की जिंदगी

By: Rajesh Tripathi

Updated On:
04 Jan 2019, 05:02:25 PM IST

  • साल भर तक लाखों लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ किया..

     

 

मिलावट का जहर : पूरे साल में 224 खाद्य सामग्री के नमूनों में से करीब 69 फेल, 67 नमूनों में से 18 फेल, सबसे ज्यादा मावा दूषित

कोटा. शहर में बेची जा रही खाद्य सामग्री से लाखों लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है। खाद्य सुरक्षा विभाग की ओर से मिठाइयां व अन्य खाद्य सामग्री के लिए गए नमूनों में से 30 फीसदी मिलावटी पाए गए हैं।
खाद्य सुरक्षा विभाग ने वर्ष 2018 में 224 खाद्य सामग्री के नमूने लिए थे। इनमें से करीब 69 नमूने फेल हो गए। इसके अलावा खाद्य सुरक्षा टीम ने दिवाली पर विशेष अभियान चलाया था। इसमें 67 नमूने लिए। इनमें से 18 नमूने फेल हो गए, जबकि 2017 की दिवाली पर 175 खाद्य सामग्री के नमूने लिए। इनमें से लगभग 30 फीसदी में मिलावट पाई गई थी।
खाद्य सुरक्षा अधिकारी (कोटा जोन ) अरुण सक्सेना ने बताया कि कोटा जिले में पिछले दिनों खाद्य सुरक्षा अधिकारी गोविंद सहाय गुर्जर, चन्द्रवीर सिंह जादौन, संजय सिंह की टीमों ने अलग-अलग दुकानों पर कार्रवाई की थी। जांच में दूध, काला नमक, भैंस का दूध, दही, मिश्रित केक, पेठे के दो, मावे के तीन व नमकीन के नमूने फेल हो गए।
सफेद नमक को काला कर कूट रहे थे चांदी
टीम ने भामाशाहमंडी में विमल कुमार जैन मैसर्स गौरव किराना स्टोर पर सफेद नमक में काला नमक मिलाकर अधिक दर पर बेचते पाया गया। इसका नमूना भी फेल हो गया। व्यापारी के विरुद्ध कोर्ट में चालान पेश किया।
ऑर्गेनिक का दावा, दही फेल
थेगड़ा रोड स्थित मैसर्स पीईआई फूड प्रोडक्ट्स पर आर्गेनिक दही का दावा कर बेचा जा रहा था, लेकिन टीम ने जब दही का नमूना लिया तो निर्धारित मानक स्तर नहीं पाया गया।


शाही मावे की दुकान पर मिला मिलावटी मावा

टीम ने गुमानपुरा स्थित शाही मावे की दुकान पर मलाई बर्फी का नमूना लिया। इसमें मिले मावे में तेल पाया गया। यह नमूना फेल हो गया। इसके अलावा गुमानपुरा स्थित विजयवर्गीय मावे की दुकान पर मावे के नमूने लिए, इसमें भी फेट की मात्रा नहीं मिली। बोरखेड़ा में जैन मिष्ठान भण्डार पर मलाई बर्फी में तेल की मात्रा पाई गई। बोरखेड़ा जोधपुर मिष्ठान भण्डार में मावा मानक स्तर का नहीं मिला। इटावा में प्रतिष्ठित व्यापारी श्रीचन्द्रधारी की दुकान से मावा बर्फी का सेम्पल लिया, जो फेल हो गया, इसमें तेल मिला।


कपड़े के रंग में रंगे बूंदी के लड्डू
टीम ने पोटनपोल गेट स्थित अग्रवाल स्वीट्स एवं नमकीन सेंटर पर बूंदी के लड्डू का नमूना लिया। यह कपड़े के रंग में रंगे मिले। लड्डू में अखाद्य रंग मिलाकर विक्रय करते पाए जाने पर कोर्ट में चालान पेश किया।


इनको हुई सजाseizes adulterated sonpapdi
1. कैथून थाने के छीपापाड़ा निवासी प्रभुदयाल को पुरानी धानमंडी कोटा में वनस्पति जम्बो में मिलावट करने पर कोर्ट ने 24 मार्च 2017 को एक वर्ष व पांच हजार रुपए के दण्ड से दण्डित किया।
2. महावीर नगर तृतीय में सत्यनारायण डेयरी के कन्हैयालाल गुर्जर व जगदीश गुर्जर को मिलावटी दूध का विक्रय करने पर कोर्ट ने 13 दिसम्बर 2017 को तीन माह का कारावास व पांच हजार रुपए अर्थदण्ड से दंडित किया।
3. रानपुरा एग्रो पार्क के भरत माखीजा व रमेशचंद माखीजा को मिलावटी रिफाइंड सोयाबीन तेल किरण गोल्ड के नाम से विक्रय करने पर कोर्ट ने 23 नवम्बर 17 को तीन माह का कारावास व पांच सौ रुपए अर्थदण्ड से दण्डित किया।
4. बपावर निवासी मुकेश कुमार अग्रवाल को लालमिर्च पाउडर को अग्रवाल ब्रांड के नाम से मिलावट कर विक्रय करने के मामले में रामगंजमंडी कोर्ट ने 27 जून 2018 को एक वर्ष का साधारण कारावास व पांच हजार अर्थदण्ड से दण्डित किया।
5. अनंतपुरा निवासी रतन स्वीट्स एण्ड नमकीन के व्यापरी अनिल आसोपा को मिलावटी मिल्क केक का विक्रय करने पर 6 माह का कारावास व एक हजार रुपए अर्थदंड से दण्डित किया।

Updated On:
04 Jan 2019, 05:02:25 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।