गिरवी रखे पासबुक से निकलवाया सात लाख लोन, चार लाख ट्रांसफर किया अपने खाते में, 50 हजार देने के बाद दी धमकी, तीन पर केस दर्ज

By Vasudev Yadav

|

15 Feb 2020, 01:23 PM IST

Korba, Korba, Chhattisgarh, India

कोरबा. ग्राम सुतर्रा निवासी राजेंद्र एसईसीएल सिंघाली में एसडीएल ऑपरेटर के पद पर कार्यरत है। उसने स्थानीय निवासी रामप्रताप जायसवाल से 30 हजार रूपए कर्ज लिया था। कर्ज के बदले में रामप्रताप ने एसईसीएल कर्मी राजेंद्र का चेक व पासबुक गिरवी रख लिया था। राजेंद्र प्रतिमाह ब्याज तीन हजार रूपए रामप्रताप को भुगतान कर रहा था।

Read More: आक्रोश : सफाई कर्मियों ने काम किया बंद, नगर निगम का घेराव कर किया प्रदर्शन

कुछ माह बाद रामप्रताप की नीयत डोल गई। एसईसीएल कर्मी का चेक व पासबुक का दुरूपयोग करते हुए बैंक से सात लाख का लोन निकलवा लिया। इनमें से चार लाख रुपए अपने खाते में ट्रांसफर करवा लिया वहीं इसके बाद राजेंद्र को अपने घर बुलाकर 50 हजार रुपए नकद दे दिया। इसके बदले कर्मी को 50 हजार रूपए नगद दिया। कर्मी को जानकारी होने पर उसने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। 100 रुपए के स्टॉप में जबरदस्ती हस्ताक्षर लेने व दंपती को जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है। पुलिस ने रामप्रताप, उसकी पत्नी व साले के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।