सिलीगुड़ी : ऐतिहासिक धरोहर का दर्जा खो सकती है ट्वॉय ट्रेन

By: Vanita Jharkhandi

Published On:
Jul, 19 2019 03:37 PM IST

  • - ठीक से देखभाल नहीं होने खफा है यूनेस्को

 


सिलीगुड़ी . दार्जिलिंग की ट्वॉय ट्रेन ऐतिहासिक धरोहर का तमगा खो सकती है। रख-रखाव में उदासीनता से यूनेस्कोखफा है। हाल ही में इसको लेकर एक बैठक हुई है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार 140 साल पुरानी ट्वॉय ट्रेन का इतिहास रहा है। दार्जिलिंग हिमालान रेलवे के पास इस बारे में एक पत्र भेजा गया है। यूनेस्को की ओर से यह बताया गया है कि 2017 से 2019 के दौरान ट्रेन के रखरखाव संबंधित कोई भी तथ्य भारतीय रेल की ओर से विश्व धरोहर समिति को नहीं सौंपी गई है। मालूम हो कि लगातार दार्जिलिंग में हो रहे अशान्त परिवेश के कारण ट्वॉय ट्रेन सेवा बाधित रही। ट्रेन लाइन को भी नष्ट किया गया है। उसको सम्भालने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी है। यूनेस्को की ओर से प्रतिनिधि दल को भेजा गया है ताकि वे स्थिति की जानकारी ले सके। सम्भवतह प्रतिनिधि दल यदि संतुष्ट नहीं हुआ तो विश्व धरोहर का ताज खो सकता है। दूसरी ओर उत्तर-पूर्व फ्रंटियर रेलवे की ओर से बताया गया है कि लोग रेल लाइन पर कूड़ा फेंक देते हैं। साथ ही रेल लाइन पर बैठ कर अड्डा मारते है तो कभी गाड़ी पार्क कर देते हैं जिससे रेल सेवा प्रभावित होती है।

Published On:
Jul, 19 2019 03:37 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।