पश्चिम बंगाल के हिन्दुओं को NRC से डरने की जरुरत नहीं

  • पश्चिम बंगाल में एनआरसी (NRC) लागू होगा, लेकिन हिन्दुओं (Hindus) को इससे डरने की जरुरत नहीं है। एक भी हिन्दू को नहीं निकाला जाएगा। इसके लिए...

कोलकाता

पश्चिम बंगाल में एनआरसी (NRC) लागू होगा, लेकिन हिन्दुओं (Hindu) को इससे डरने की जरुरत नहीं है। एक भी हिन्दू को नहीं निकाला जाएगा। इसके लिए संसद में पहले सिटिजनशिप संशोधन बिल पारित किया जाएगा। नदिया जिले के करीमपुर इलाके में ‘गांधी संकल्प यात्रा’ के दौरान विजयवर्गीय ने उक्त बातें कही। राज्य में हो रही राजनीतिक हिंसा को लेकर उन्होंने राज्य सरकार और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तीखी आलोचना की। वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि राज्य में अराजकता की सरकार चल रही है। हर दिन हत्या हो रही है। भाजपा के कार्यकर्ता मारे जा रहे हैं, लेकिन सरकार चुप बैठी है।

इस दौरान भाजपा नेता मुकुल राय और अरविन्द मेनन भी उपस्थित थे। मुकुल राय ने भी राजनीतिक हिंसा को लेकर ममता बनर्जी की सरकार की कड़ी आलोचना की। अरविन्द मेनन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जो स्वच्छ भारत अभियान शुरू किया गया है पार्टी उसे पूरा करेगी। गांधी के विचारों के प्रचार-प्रसार को लेकर पहले किसी सरकार इतनी गंभीर नहीं थी। भाजपा गांधी के विचारों को जन-जन तक पहुंचाएगी। इसके लिए ही गांधी संकल्प यात्रा की शुरुआत की गई है।

दूसरी तरफ रूपा गांगुली ने एनआरसी के मुद्दे पर ममता बनर्जी के विरोध पर कहा कि उन्हें केन्द्र सरकार और भाजपा के खिलाफ कोई मुद्दा नहीं मिल रहा है। इसलिए एनआरसी को मुद्दा बना रखी हैं। सरकार का पहला काम अपने देश की जनता के मूलभूत जरूरत रोटी, कपड़ा और मकान पूरा करने की है। केन्द्र सरकार वही कार्य करने की कोशिश कर रही है। इसके लिए ही सिटिजनशिप संशोधन बिल लाने की तैयारी चल रही है। एनआरसी बेहद जरुरी है।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
Web Title: NRC in West Bengal, Hindus do not have to be afraid.
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।