ब्रिज पुनर्निर्माण में विदेशी मदद चाहती ममता बनर्जी सरकार

By: Prabhat Kumar Gupta

Published On:
Sep, 12 2018 10:57 PM IST

  • पश्चिम बंगाल सरकार माझेरहाट ब्रिज का पुनर्निर्माण को लेकर काफी तत्पर दिख रही है।

ब्रिज पुनर्निर्माण में विदेशी मदद चाहती राज्य सरकार

- खडग़पुर आईआईटी पर भरोसा नहीं
कोलकाता.

पश्चिम बंगाल सरकार माझेरहाट ब्रिज का पुनर्निर्माण को लेकर काफी तत्पर दिख रही है। खडग़पुर आईआईटी के विशेषज्ञ इंजीनियर फिलहाल ब्रिज के गिरने के कारणों तथा उसके पुनर्निर्माण को लेकर कसरत कर रहे हैं। इसके लिए राज्य सरकार विदेशी संस्था से मदद लेने पर विचार कर रही है। सचिवालय नवान्न के सूत्रों ने बताया कि यद्यपि खडग़पुर आईआईटी के इंजीनियर दुर्घटनाग्रस्त ब्रिज को फिर से बनाने को लेकर तरकीब ढूंढ रहे हैं, पर लोक निर्माण विभाग इस संदर्भ में एल एंड टी के अलावा विदेशी संस्थाओं की मदद से ब्रिज का पुनर्निर्माण कराना चाह रहा है। उल्लेखनीय है कि कोलकाता पुलिस की फारेंसिक विभाग ने मंगलवार को नवान्न में हुई उच्च स्तरीय बैठक में माझेरहाट ब्रिज हादसे पर रिपोर्ट पेश की। जिसमें कहा गया कि हादसे से मेट्रो रेलवे के खनन या अन्य निर्माण का कोई सरोकार नहीं है। यही नहीं पिछले डेढ़ साल के दौरान उक्त इलाके में मेट्रो रेलवे की ओर से कोई खनन कार्य नहीं किया है।

तैयार हो रहे दो विकल्प रास्ते-
माझेरहाट ब्रिज हादसे से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए लोक निर्माण विभाग ने दो विकल्प रास्ते बनाने का निर्देश दिया है। कोलकाता मेट्रोपोलिटन डेवलपमेन्ट अथॉरिटी का विशेष प्रतिनिधि दल बुधवार को उक्त इलाके का जायजा लिया। सूत्रों के अनुसार एक रास्ता ब्रिज के बगल से और दूसरा रास्ता अलीपुर एवेन्यू से होकर तैयार किया जा रहा है। अलीपुुर एवेन्यू और न्यू अलीपुर स्टेशन के बीच रेल पटरी, पोर्ट ट्रस्ट का एक भवन और दीवार है। राज्य सरकार के अनुरोध पर रेल मंत्रालय ने जनहितों को देखते हुए रेल पटरी को पार करते हुए वैकल्पिक रास्ते तैयार करने पर सहमति व्यक्त की है। सचिवालय के सूत्रों ने बताया कि रेल मंत्रालय के निर्देश पर रेल फाटक लगाने तथा दीवार तोडऩे का काम शीघ्र शुरू हो जाएगा। इससे पहले लोक निर्माण विभाग वैकल्पिक रास्ता तैयार करने का काम शुरू कर दिया है।

Published On:
Sep, 12 2018 10:57 PM IST