आमडांगा हिंसा में घायल तृणमूल कांग्रेस के और एक समर्थक की मौत

By: Ashutosh Kumar Singh

Published On:
Sep, 10 2018 11:14 PM IST

  • मृतक की पहचान सत्तार मंडल (28) के रूप में हुई है। इस प्रकार उक्त हिंसक झड़प में मरने वालों की संख्या बढक़र 4 हो गई।

- कोलकाता के आरजी कर अस्पताल में टूट गया दम

- हिंसा में मरने वालों की संख्या ४ पहुंची

कोलकाता
उत्तर 24 परगना जिले के आमडांगा के ताड़बेरिया पंचायत में बोर्ड गठन को लेकर पिछले महीने हुई हिंसक झड़प में घायल तृणमूल कांग्रेस के और एक समर्थक की सोमवार को अस्पताल में मौत हो गई। मृतक की पहचान सत्तार मंडल (28) के रूप में हुई है। इस प्रकार उक्त हिंसक झड़प में मरने वालों की संख्या बढक़र 4 हो गई। इससे पहले कु²ुस गनी और नासिर हल्दर नामक तृणमूल कांग्रेस के दो एवं मुजफ्फर अहमद नामक माकपा के एक समर्थक की मौत हुई थी। कु²ुस और नासीर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। मुजफ्फर का अस्पताल में दम टूट गया था। माकपा और तृणमूल कांग्रेस समर्थकों के बीच हुई फायरिंग और बमबाजी में 15 से अधिक लोग घायल हुए थे। सत्तार गंभीर रूप से घायल हुआ था। पहले उसे इलाज के लिए बारासात अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत गंभीर होने के बाद कोलकाता के आरजी कर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार सुबह उसका दम टूट गया। सत्तार की मौत से आमडांगा इलाके में नए सिरे से सन्नाटा पसर गया है। गड़बड़ी की आशंका पैदा होने से पुलिस स्थिति पर नजर रख रही है। आमडांगा पंचायत की कुल 19 सीट में से 9 सीट पर तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार जीते हैं। 7 सीटों पर माकपा के प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है। 1 सीट पर कांग्रेस और 1 सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी ने जीत दर्ज की है। तृणमूल कांग्रेस से दो सीट कम पाने के बावजूद माकपा ने बोर्ड गठन का दावा किया था। इसको लेकर दोनों पक्षों में भिड़ण्त हुई थी। हिंसक झड़प में पुलिस ने 20 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है। हालांकि मामले के मुख्य आरोपी जाकिर बल्लुकऔर शहाबु²ीन दोनों अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। हिंसा को लेकर इलाके में पंचायत बोर्ड के गठन पर फिलहाल रोक लगा दी गई है।

 

Published On:
Sep, 10 2018 11:14 PM IST