इसकी अनदेखी पड़ न जाए भारी

By: Kali Charan kumar

Updated On:
24 Aug 2019, 07:29:47 PM IST

  • बीमारियों को न्यौता दे रहा है जगह-जगह भरा बारिश का पानी
    पनपे मच्छरों से डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया फैलने की आशंका

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मदनगंज-किशनगढ़. बारिश के बाद नगर में जगह-जगह खाली भूखण्डो, गड्डों में भरा पानी रोगों को न्यौता दे रहा है। पानी में लार्वा पैदा होने से मच्छर पनप रहे है। इससे डेंगू, मलेरिया सहित अन्य रोग फैलने की आशंका है। उधर बीते कुछ दिनों से अस्पताल में वायरल बुखार के रोगी बढ़ गए। जो इन आशंकाओं को बल दे रहे है।
बीते दिनों हुई बारिश के कारण जयपुर रोड, गांधीनगर, परासिया, दाधीच कॉलोनी, बृजविहार, इंद्रा कॉलोनी, सुन्दर नगर सहित आसपास के गांवों और अन्य स्थानों पर खाली पड़े भूखण्डों ंऔर गड्डों में पानी भर गया था। भूखण्डों में पानी भरने के कारण मच्छर पनप रहे है। दिन प्रतिदिन मच्छरों का तादात बढ़ती जा रही है। वहीं मच्छरों के अलावा और भी जीवाणु पानी में पनप रहे है। इसके चलते बीमारियां फैलने की आशंका है।
इन मच्छरों से फैलता है रोग
चिकनगुनिया और डेंगू ही मादा एडिस इजिप्टी मच्छर के काटने से होते हैं। मलेरिया मादा एनाफिलीज मच्छर के काटने से फैलता है। डेंगू का मच्छर तड़के और शाम के समय ज्यादा सक्रिय रहता है। मलेरिया का मच्छर रात में ज्यादा सक्रिय रहता है।
ठहरे पानी में पनपते है मच्छर
मादा मच्छर केवल पानी में ही अंडे देती है। बारिश के समय गड्डों और खाली भूखण्डों में पानी ठहरने के कारण मच्छर तेजी से पनपते है। अंडे से लारवा बनने तक की अवधि 7 दिन तक होती है। इस बीच यदि पानी में काला तेल, मिट्टी का तेल, ब्लीचिंग पाउडर आदि का प्रयोग करने से मच्छर पनप नहीं पाते है।
पत्रिका अलर्ट यह कर सकते है उपाय
कहीं भी खुले में पानी रुकने या जमा न होने दें। कूलर, बाथरूम, किचन आदि में जहां पानी रुका रहता है, वहां दिन में एक बार मच्छर भगाने का तेल स्प्रे करें। गमले ये चाहे घर के भीतर हों या बाहर, इनमें पानी जमा न होने दें। गमलों के नीचे रखी ट्रे भी रोज खाली करना न भूलें। छत पर टूटे-फूटे डिब्बे, टायर, बर्तन, बोतलें आदि न रखें या उलटा करके रखें। पानी की टंकी को अच्छी तरह बंद करके रखें। पानी स्टोर करने के बाद बर्तन पूरी तरह ढक कर रखें।

Updated On:
24 Aug 2019, 07:29:47 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।