सबसे कठिन व्रत- गर्म जल के साथ करते हैं यह तपस्या

By: deepak deewan

Updated On:
25 Aug 2019, 01:51:32 PM IST

  • निराहार रहकर तपस्या की जाती है

खंडवा.
जप-तप-मौन उपवास का पर्व पर्यूषण पर्व 26 अगस्त सोमवार से शुरू हो रहा है। पर्यूषण पर्व परंपरागत विधि विधान से मनाया जाएगा। रामकृष्णगंज स्थित श्री नमिनाथ श्वेतांबर जैन मंदिर में पर्व अनेक विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम होंगे. श्री नमिनाथ जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक ट्रस्ट एवं श्री संघ अध्यक्ष अभय चोपड़ा जैन ने बताया चातुर्मास के मध्य में 50वें दिन से पर्यूषण पर्व शुरू होता है। जैन धर्म में धार्मिक क्रियाओं के लिए इस पर्व का विशेष महत्व है।

जप-तप-मौन और उपवास का पर्यूषण पर्व
पर्यूषण पर्व के 8 दिन तपस्या के लिए होते हैं। इसमें निराहार रहकर तपस्या की जाती है। अष्टाहिका प्रवचन, दोपहर में पंचकल्याणक, भक्तांबर, उवस्सगहरम सहित अन्य कार्यक्रम होंगे। अंतिम 2 सितंबर संवत्सरी दिवस के दिन 3 दिन व 8 दिन तक तप करने वालों का सम्मान व क्षमावाणी होगी। इसमें जाने-अनजाने में एक-दूसरे को पहुंचे कष्ट के लिए लोग क्षमा मांगेंगे।


करते हैं कठिन तप
पर्यूषण पर्व के दौरान जैन धर्मावलंबी कठिन दिनचर्या का पालन करते हैं। इस दौरान जप-तप भी किया जाता है। दिनभर उपवास रहा जाता है। उपवास के दौरान पूरी तरह निराहार रहा जाता है। कुछ लोग तो केवल पानी ही पीते हैं।


पर्यूषण पर्व में इतने प्रकार होती है तपस्या
एकासना : इसमें दिन में केवल एक बार भोजन/ अन्न ग्रहण किया जाता है।
उपवास/एक दिनी तप: एक दिन पूरे 24 घंटे केवल हल्के गर्म पानी पीकर रहना होता है।
तेला/अठाई तप : तेला तप और अठाई तप सबसे कठिन होता है। तपस्या में उपवास रहने वाला व्यक्ति को निराहार बिना अन्न ग्रहण के केवल गर्म जल के यह तपस्या करनी होती है। तेलातप 3 दिन व अठाई तप 8 दिन का होता है।

किस दिन क्या आयोजन
26 से 28 अगस्त : सुबह अष्टान्हिका प्रवचन, दोपहर में पंचकल्याणक, भक्तांबर, उवस्सगहरम पूजा होगी।
29 अगस्त से 2 सितंबर 8.30 दोपहर 3 बजे कल्पसूत्र वाचन।
30 अगस्त : सुबह 9.30 बजे चौदह स्वप्न दर्शन, स्वप्न फल एवं भगवान महावीर का जन्म वाचन।
2 सितंबर : सुबह 8.30 बजे संवत्सरी के मंगल दिवस पर बारसा सूत्र का वाचन, 11.30 बजे चैत्य परिपाटी और दोपहर 3 बजे संवत्सरी प्रतिक्रमण होगा।

Updated On:
25 Aug 2019, 01:51:32 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।