हिंदू नेता की गिरफ्तारी पर खंडवा में बवाल, विरोध में शहर रहा बंद

jitendra tiwari

Publish: Sep, 12 2018 09:08:08 AM (IST)

महादेवगढ़ संरक्षक को गिरफ्तार कर भेजा जेल, वर्ष 2013 के वलबा मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी होने पर पुलिस ने किया था गिरफ्तार

 

खंडवा. महादेवगढ़ संरक्षक के गिरफ्तार होने की खबर लगते ही शहर में समर्थक सक्रिय हो गया। मंगलवार सुबह से ही गिरफ्तारी के विरोध में हिंदू जागरण मंच के आह्वान पर शहर बंद रहा। सुबह से लोगों को चाय-नाश्ते के लिए भटकना पड़ा। वहीं लोग सड़कों पर आ गए। बंद बाजार के बीच लोगों की भीड़ देख पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। सुरक्षा के लिहाज से बाजार में पुलिस बल तैनात किया गया। आलम यह रहा कि शहर के संवेदनशील इलाकों सहित हर चौक-चौराहे पर पुलिस जवान मुस्तैद रहे। वहीं दोपहर करीब १२.३० बजे महादेवगढ़ संरक्षक अशोक पालीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में घंटाघर चौक पर युवाओं की भीड़ जमा हुई। 800 से अधिक हिंदू नेता और युवा यहां से रैली के रूप में कंट्रोल रूम पहुंचे। रैली के दौरान युवाओं ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहीं एडीएम बीएस इवने और एएसपी महेंद्र तारणेकर को ज्ञापन सौंपा।
दुकानदार पहुंचे, मगर दुकान नहीं खोली
सुबह से ही बाजार में दुकानें खोलने के लिए दुकानदार पहुंचे। बाजार में आकर उन्हें शहर बंद की जानकारी मिली। इस पर कुछ दुकानदार विरोध में शामिल हो गए तो कुछ घर लौट गए, लेकिन किसी ने दुकान नहीं खोली। सुबह से ही पूरा बाजार बंद रहा। बंद के दौरान लोगों को चाय-नाश्ते, दूध आदि जरूरी सामग्री के लिए भटकना पड़ा। इधर, दोपहर करीब २ बजे हिंदू जागरण मंच द्वारा ज्ञापन सौंपा गया। जिसके बाद बाजार खुला। इस दौरान मंच के पदाधिकारियों ने बाजार में एनाउंसमेंट कराकर व्यापारियों से बाजार खोलने की अपील की।
रेलवे कोर्ट में किया पेश, लोगों की जमा हुई भीड़
पुलिस ने दोपहर करीब १२ बजे महादेवगढ़ संरक्षक अशोक पालीवाल को रेलवे कोर्ट में पेश किया। यहां न्यायाधीश विश्वदीपक तिवारी ने मामले में सुनवाई की। कोर्ट ने सुनवाई करते हुए पालीवाल को जेल भेजने के आदेश दिए। उल्लेखनीय है कि पालीवाल के मामले की सुनवाई न्यायाधीश तिवारी की कोर्ट में होना थी, लेकिन वह मंगलवार को रेलवे स्टेशन परिसर स्थित रेलवे कोर्ट में बैठते है। इसी के चलते पालीवाल को रेलवे कोर्ट में पेश किया गया था। इधर, पालीवाल को जेल भेजने की खबर लगते ही स्टेशन के बाहर समर्थकों की भीड़ जमा हो गई। भीड़ देखते हुए स्टेशन परिसर में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया। गौरतलब है कि वर्ष २०१३ के मोघट थाना क्षेत्र के बलवा मामले में पालीवाल का कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ था।

जबरदस्ती बाजार बंद कराने पर अमित गिरफ्तार
इधर, सुबह से जबरदस्ती बाजार बंद कराने पर पुलिस ने अमित जैन को गिरफ्तार किया। मोघट पुलिस ने जैन के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया और न्यायालय में पेश किया। कोर्ट ने आरोपी अमित को जेल भेज दिया है। पुलिस की माने तो अमित सुबह से रेलवे स्टेशन रोड सहित पंधाना रोड स्थित मंडी के आसपास की दुकानें जबरदस्ती बंद करा रहा था। जिसके तहत उसे गिरफ्तार किया गया।
वर्जन...
कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट जारी होने पर पालीवाल को गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने पालीवाल को जेल भेजा है। निर्वाचन आयोग के निर्देश है कि लंबित वारंट तामील कराना है। जिसके चलते लंबित वारंटों को लेकर कार्रवाई की जा रही है।
रूचिवर्धन मिश्र, एसपी
............
वर्जन...
त्योहार के दौरान हिंदू नेताओं को गिरफ्तार करने से समाज में प्रशासन के खिलाफ रोष व्याप्त है। प्रशासन की कार्रवाई के विरोध में शहर बंद का आह्वान किया गया था। जिसमें व्यापारियों ने सहयोग किया। हिंदू नेताओं पर गलत कार्रवाई का मंच हमेशा विरोध करेगा।
रामचंद्र मौर्य, विभाग संजोयक, हिंदू जागरण मंच

More Videos

Web Title "MP Big news: Khandwa stopped in protest of Hindu leader's arrest"