जालीदार रोशनदान, सायरन की पुलिस से दूरी

By: Vinod Sharma

Updated On:
13 Aug 2019, 07:12:44 PM IST

  • करौली. स्थानीय जिला मुख्यालय की एक बैंक से सवा करोड़ रुपए का सोना चोरी होने के बाद भी अन्य बैंकों का प्रबंधन सुरक्षा के प्रति जागरुक नहीं हुआ है। जिससे बैंकों के भवनों में जालीदार रोशनदान है, वहीं कुछ बैंकों के सायरन की घंटी पुलिस नियंत्रण कक्ष से सुनाई नहीं देती है।

करौली. स्थानीय जिला मुख्यालय की एक बैंक से सवा करोड़ रुपए का सोना चोरी होने के बाद भी अन्य बैंकों का प्रबंधन सुरक्षा के प्रति जागरुक नहीं हुआ है। जिससे बैंकों के भवनों में जालीदार रोशनदान है, वहीं कुछ बैंकों के सायरन की घंटी पुलिस नियंत्रण कक्ष से सुनाई नहीं देती है। राजस्थान पत्रिका की टीम ने करौली की विभिन्न बैंकों में सुरक्षा प्रबंधनों का जायजा लिया। गुलाबबाग स्थित बैंक ऑफ बडौदा की शाखा तीन दिन के अवकाश के बाद खुली, जिससे भारी भीड़ थी। लेकिन बैंक के भवन में चार स्थानों पर रोशनदान घटिया स्तर के दिखे।

इस बैंक के सीसीटीवी व सायरन की आवाज जिला पुलिस नियंत्रण कक्ष व जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों के नम्बर से जुड़ी हुई नहीं थी। जिससे रात के समय चोर घुसने पर सायरन की आवाज थाना व पुलिस नियंत्रण कक्ष में सुनाई ही नहींदे सकती। इस बारे में बैंक के शाखा प्रबंधक एस.एस शेखावत ने बताया कि सायरन की आवाज आस-पास ही सुनाई देती है।

इसके अलावा पुलिस नियंत्रण कक्ष से सीसीटीवी व सायरन को जोडऩे के निर्देश उनके पास नहीं है, जिससे सायरन की घंटी नियंत्रण कक्ष में नहीं बज सकती। इसी प्रकार एसबीआई की मुख्य शाखा चौधरी पाड़ा में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध नजर आए, लेकिन इसी बैंक के ऊपरी तल पर भी रोशनदान जालीदार है। जिससे बैंक की सुरक्षा में सेंध की आशंका रहेगी। गौरतलब है कि गुलाबबाग स्थित एसबीआई बैंक में जालीदार रोशनदान को तोड़कर ही चोर अंदर घुसा तथा सवा करोड़ रुपए का सोना चुरा ले गया।


शौचालय से सेंध की आशंका
इसी प्रकार पंजाब नेशनल बैंक में सुरक्षा प्रबंध ठीक पाए गए, पर गली की तरफ का शौचालय का एग्जॉस्ट फैन के हॉल से हादसे की आशंका रहेगी। क्योंकि यह सुनसान गली की तरफ खुलता है , जो काफी बड़ा भी है। इस बारे बैंक अधिकारियों ने बताया कि इससे किसी भी प्रकार का हादसा नहीं हो सकता है इसके अंदर तीन दरवाजे है जो बंद रहते हैं। आईसीआईसीआई बैंक में व्यवस्थाएं दुरुस्त पाई गई। शाखा प्रबंधक वेद अग्रवाल ने बताया कि सायरन बजने पर घंटी पुलिस अधिकारी, मुख्य शाखा हैदराबाद व उनके मोबाइल नम्बर पर सुनाई देती है। सीसीटीवी से छेड़छाड़ करने पर पुलिस व उन्हें पता चल सकता है। उन्होंने बताया कि आधुनिक तकनीक के माध्यम से सुरक्षा की व्यवस्था की गई है।

Updated On:
13 Aug 2019, 07:12:44 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।