डाॅक्टर शक्ति भार्गव ने कहा इसके कारण भाजपा प्रवक्ता पर जूते से किया हमला

By: Vinod Nigam

Updated On: Apr, 19 2019 06:11 PM IST

 
  • भाजपा की पीसी में पहुंचे डाॅक्टर भार्गन ने प्रवक्ता पर जूता फेंककर फिर सुर्खियों में आया, दिल्ली पुलिस लेकर आई कानपुर और फिर बताए वजह।

कानपुर । बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हाराव पर जूता फेकने वाले डॉक्टर को देरशाम दिल्ली पुलिस कानपुर लेकर आई और उनके परिजनों को सौंप दिया। इस बीच डाॅक्टर भार्गव ने मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि आयकर विभाग, पुलिस और अन्य एजेंसियों मुझे प्रताड़ित कर रही थीं। मेरे ऊपर फर्जी मुकदमे दर्ज करा दिए गए। मैंने कई बार पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपनी पीणा बयां की, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। इसी से आहत होकर मैंने भाजपा की पीसी में जूता फेंक दिया। जिससे की मेरी बात पीएमओ में बैठे अफसरों तक पहुंच जाए।

कानपुर लेकर आई पुलिस
बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हाराव की प्रेस काफ्रेंस में जूता फेंकने वाला कानपुर का डाॅक्टर शक्ति भार्गव दिल्ली पुलिस कानपुर उनके घर शिव रतन आपर्टमेंट लेकर पहुंची। डॉ शक्ति भार्गव यहां आठ सौ एक नंबर फ्लैट में रहते हैं। डाक्टर का कहना है मैंने बीआईसी के बंगले खरीदे थे उस पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही थी तब मै सुप्रीम कोर्ट गया। सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश एफआईआर दर्ज कराए जाने का आदेश दिया था, लेकिन सरकार ने कुछ नहीं किया। कहा, मैंने जो पूरी पारदर्शिता के साथ बंगले खरीदे थे। इसी बीच भाजपा के सरंक्षण में पल रहे बिल्डरों ने पहले बंगले खाली करने का दबाव बनाय। जब मैं नहीं माना तो आयकर की रेड करवा दी।

तो फांसी पर लटका दें
डाॅक्टर शक्ति भार्गव ने कहा कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थक था, लेकिन कानपुर के कई बड़े नेता बिल्डरों के गैर कानूनी कार्यो को करवा रहे हैं। इसी के चलते मैंने पीएमओ में खत लिखकर अपना दर्द बयां किया। दिल्ली में रूककर पीएम से मिलनें का समय मांगा, जांच की बात कही, पर सुनवाई नहीं हुई। इसी के चलते मैंने भाजपा की पीसी में जाने का प्लाॅन बनाया और आगे की कतार में बैठ गया। मैं अपनी बात पीएम तक पहुंचाने के लिए भाजपा प्रवक्ता पर जूता फेंका था। मैं चाहता हूं कि पूरे प्रकरण की जांच हो। यदि मैं दोषी हूं तो फांसी की सजा दी जाए और निर्दोष होने पर साजिशकर्ताओं पर कार्रवाई हो।

पीएम की नीतियों का मुखर विरोधी
आपको बता दें कि भार्गव एक शीर्षक के साथ केंद्र सरकार की नीतियों का मुखर विरोध करता आया है। इस शीर्षक से उसने अबतक चार सिरीज लिखी हैं। इसके लिए कई बार उसे अपशब्द भी सुुनने पड़े हैं। अपने फेसबुक अकाउंट पर एक शीर्षक के नाम से कई सिरीज लिखने वाले इस डॉक्टर ने प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों पर सवाल उठाए। डॉक्टर भार्गव द्वारा किए पोस्ट से कई बार उन्हें ट्रोल होेना पड़ा है। ये ट्रोलिंग इस कदर तक रही कि भार्गव को अपशब्द भी सुनने पड़े हैं। जिस शीर्षक से भार्गव सोशल मीडिया पर लिखता है उसी की चैथी रिसीज में एक महिला ने उसको टैग करते हुए लिखा कि थू है तुम पर ...जूते तो अब पब्लिक तुम पर चलाएगी ....।

Published On:
Apr, 19 2019 06:11 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।