पंद्रह सालों में भी नहीं पहुंचा पानी

By: Manish Panwar

|

Published: 12 Aug 2019, 11:42 PM IST

Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

भावी(जोधपुर ). चांदेलाव की देवासियों की ढाणी में पानी की सप्लाई के लिए 15 वर्ष पूर्व जीएलआर तो बना दिया लेकिन इतने वर्ष बीत जाने के बावजूद इस जीएलआर में पानी आने के लिए न तो कनेक्शन किया गया । न ही पाइप लाइन बिछाई गई। ग्रामीणों द्वारा कई बार जलदाय विभाग के अधिकारियों, स्थानीय विधायक, सांसद, ग्राम पंचायत प्रशासन व प्रशासनिक अधिकारियों को लिखित मंे देने के बावजूद समस्या की सुनवाई नहीं हुई। आज भी इस ढाणी के बांशिदों को पीने का पानी महंगे दाम देकर टैंकर से मंगवाना पड़ता है। नाराज ग्रामीणों ने सोमवार को प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। वार्डपंच उगमाराम देवासी ने बताया कि गांव मंे रात्रि चौपाल, शिविर ,कलक्टर या प्रशासनिक अधिकारियों के आने की सूचना मिलने पर या गांव मंे कोई मीटिंग होने के दिन साल- दो साल मंे एक बार मंदिर के पास बने सार्वजनिक टांके मंे पानी डलवाया जाता है ताकि प्रशासनिक अधिकारियों से शिकायत होने पर डांट ना पड़े। देवासियों की ढाणी में १२५ परिवार रहते हैं। पोर्टल पर भी ग्रामीण शिकायत कर चुके हैं लेकिन कार्यवाही के नाम पर कुछ नहीं हुआ। हर परिवार पशुपालक होने के कारण पशुओं को पानी पिलाने, कपड़ा धोने का पानी दो किलोमीटर दूर से रोजाना औरतंे- पुरूष सिर पर लेकर आते हैं। ग्रामीणों की मांग है कि पाइप लाइन का कनेक्शन करवाकर पीने की सुविधा ढाणी में करवाई जाए। इस दौरान हरजीराम देवासी, गोपाराम, गुणेशराम, भंवराराम, रूपाराम, निम्बाराम, कंवराराम, श्रवण, रूपारामदेवासी, उगमाराम देवासी, सीयाराम, गंगाराम, खीयाराम देवासी सहित ग्रामीण मौजूद थे।

इन्होंने कहा

देवासियों की ढाणी चांदेलाव में बना जीएलआर ग्राम पंचायत द्वारा बनाया गया है। जलदाय विभाग का इससे कोई लेना- देना नहीं है। ग्राम जल एवं स्वास्थ्य स्वच्छता समिति आपणी योजना के तहत ग्राम पंचायत इस जीएलआर मंे पानी डलवाने की व्यवस्था व पाइप लाइन बिछाने की व्यवस्था कराए। जलदाय विभाग तो जरूरत पडऩे पर एनओसी दे सकता है। ग्राम पंचायत को चाहिए कि जनता के हित को देखते हुए पानी की समस्या से ग्रामीणो को निजात दिलाएं।

मेहराम चौधरी, एईएन जलदाय विभाग पीपाड़शहर
- हम ग्रामीण वर्षों से पानी को लेकर परेशान हैं। ग्राम पंचायत से लेकर प्रशासनिक अधिकारियों तक घूम- घूम कर परेशान व निराश हो गए हैं। लेकिन वर्षों बीत जाने के बावजूद भी किसी ने हमारा दर्द नही सुना। मजबूर ग्रामीणों को धरना- प्रदर्शन करना होगा।

उगमाराम देवासी ,वार्डपंच चांदेलाव

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।