दो बार पीपीपी मोड पर फेल होने के बाद अब सरकार लगाएगी लीनियर एक्सीलरेटर

By: Gajendra Singh Dahiya

Published On:
Jul, 10 2019 11:58 PM IST

 

  • - बजट में 31 करोड़ का प्रावधान
    - 2008 और 2015 में हुई थी कवायद
    - कैंसर मरीजों को मिलेगी बड़ी राहत

जोधपुर. कैंसर मरीजों के लिए मथुरादास माथुर अस्पताल में लीनियर एक्सीलरेटर मशीन लगाने के दो असफल प्रयास के बाद तीसरी बार अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने खुद बजट में 31 करोड़ का प्रावधान कर दिया है। किसी एक मशीन के लिए यह अब तक की सबसे बड़ी राशि मानी जा रही है। मशीन खुद अस्पताल लगाएगा। वर्तमान में प्रदेश में केवल जयपुर व बीकानेर में ही यह मशीन है। मरीज इलाज के लिए अहमदाबाद व दिल्ली तक जाते थे।

वर्ष 2008 में एमडीएम अस्पताल ने पीपीपी मोड पर लीनियर एक्सीलरेटर लगाने के लिए निजी कम्पनी को टेंडर दिया था। कम्पनी ने 20 लाख रुपए खर्च करके एमडीएम अस्पताल की गैलेरी के पास बंकर बनाया जो आज भी बना हुआ है। 2010 में टेंडर शर्तों को लेकर असहमति बनने पर वह काम छोडकऱ चला गया। मेडिकल कॉलेज के तत्कालीन प्राचार्य डॉ. अरविंद माथुर ने टेंडर रद्द कर सामान जब्त कर लिया। इसके बाद वसुंधरा सरकार ने 2015 में फिर से पीपीपी मोड पर लीनियर लगाने का निर्देश दिया, लेकिन टेंडर करने के बावजूद कोई कम्पनी नहीं आई। अब सरकार खुद ही भारी भरकम बजट देकर खुद की मशीन लगाने जा रही है।

क्या है लीनियर एक्सीलरेटर
लीनियर एक्सीलरेटर कैंसर कोशिकाओं को समाप्त करने में काम आती है। वर्तमान में मथुरादास माथुर अस्पताल में 1982 से रेडियोथैरेपी दी जा रही है, लेकिन इससे कैंसर प्रभावित अंग के आसपास अन्य स्वस्थ ऊतक व कोशिकाओं पर भी हानिकारक प्रभाव पड़ता है। लीनियर एक्सीलरेटर पूरी तरह से कंप्यूटराइज आधारित मशीन है, जो थ्री डी आधारित उपचार करती है। इससे कैंसर मरीजों को स्वस्थ कोशिकाओं के नष्ट होने का खतरा नहीं रहेगा।

मरीजों को अब बाहर नहीं जाना पड़ेगा

मरीजों को अब बीकानेर, जयपुर, अहमदाबाद व दिल्ली जैसे शहरों की ओर रुख नहीं करना पड़ेगा। कैंसर उपचार की पूरी सुविधा जोधपुर में मिल सकेगी।
डॉ. प्रदीप गौड़, विभागाध्यक्ष, रेडियोथैरेपी, एमडीएम अस्पताल

 

Published On:
Jul, 10 2019 11:58 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।