जीप ने दो गर्भवती को कुचला, एक महिला व दोनों गर्भस्थ शिशुओं की मौत

By: Vikas Choudhary

Updated On:
25 Aug 2019, 12:59:10 AM IST

 
  • - बीजेएस में ट्यूबवेल चौराहे पर हिट एण्ड रन का मामला
    - सडक़ किनारे घूम रही थीं दोनों गर्भवती महिलाएं, ननद भी घायल
    - जीप व चालक को पकडऩे की मांग पर नहीं उठाया शव, देर रात बीजेएस से जीप जब्त

जोधपुर.
प्रतापनगर में हिट एण्ड रन और मर्डर के दो दिन बाद बीजेएस में ट्यूबवेल चौराहे पर हिट एण्ड रन का एक और मामला सामने आया है। तेज रफ्तार अज्ञात जीप की चपेट से सडक़ किनारे घूम रही एक गर्भवती व दो गर्भस्थ शिशुओं की मृत्यु हो गई और एक अन्य गर्भवती घायल हो गईं। मृतका के परिजन ने जीप और चालक को पकडऩे की मांग को लेकर शनिवार को शव उठाने से इनकार कर दिया और मथुरादास माथुर अस्पताल चौराहे पर रास्ता रोक प्रदर्शन किया। देर रात बीजेएस से जीप जब्त की गई।

महामंदिर थानाधिकारी देवेन्द्रसिंह के अनुसार गांधीपुरा निवासी नर्मदा (२१) पत्नी चेतन भील और रेखा (२२) पत्नी रोहित भील (दोनों गर्भवती) शुक्रवार देर रात बीजेएस में ट्यूबवेल चौराहे के पास सडक़ किनारे टहल रही थी। साथ में ननद सोनू उर्फ सोनिया (१८) पुत्री रमेश भी थी। तभी पीछे से आई तेज रफ्तार जीप ने तीनों को चपेट में ले लिया और वे उछलकर सडक़ पर गिरने के बाद बेहोश हो गईं। चालक वाहन को मौके से भगा ले गया।
क्षेत्रवासी जीतू ने तीनों को अन्य लोगों की मदद से एमडीएम अस्पताल के ट्रोमा सेंटर पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान नर्मदा की मृत्यु हो गई। रेखा के हाथ में फ्रैक्चर है और उसे भर्ती किया गया है। जबकि सोनू को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। पुलिस ने मृतका के ससुर रमेश भील की तरफ से अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया। घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी फुटेज में दुर्घटना करने वाले वाहन की पहचान के बाद जीप की तलाश की जा रही है।

भील समाज के जाहिद भाटी ने बताया कि मृतका नर्मदा व घायल रेखा आपस में रिश्तेदार हैं और दोनों आठ-आठ माह की गर्भवती थी। हादसे में गंभीर घायल दोनों महिलाओं का ऑपरेशन कर बच्चों को बचाने का प्रयास किया गया, लेकिन नर्मदा व उसके गर्भस्थ बच्चे का दम टूट गया। रेखा के बच्चे को भी बचाया नहीं जा सका।
एमडीएम अस्पताल अधीक्षक डॉ. महेन्द्र कुमार आसेरी का कहना है कि ट्रोमा आइसीयू में भर्ती गर्भवती महिला की मौत हो गई। एक अन्य गर्भवती महिला ठीक है, लेकिन उसके बच्चे की मौत हो गई। दोनों के पेट में 8 माह के गर्भ थे।

रास्ता रोक जताया विरोध
हादसे का पता लगने पर परिजन व समाज के लोग सुबह से मोर्चरी के बाहर जमा होने लगे। दोपहर तक बड़ी संख्या में लोग वहां पहुंच गए और दुर्घटना करने वाले वाहन व चालक को पकडऩे और मृतका के आश्रित को मुआवजा देने की मांग की। मांगें पूरी होने तक शव उठाने से इनकार कर दिया। अपराह्न में सभी ने एमडीएम अस्पताल चौराहा पहुंच मानव शृंखला बना रास्ता रोका। पुलिस ने आरोपी को जल्द पकडऩे का विश्वास दिलाया, लेकिन परिजन मांगों पर अड़े हुए हैं।

Updated On:
25 Aug 2019, 12:59:10 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।