कूरियरकर्मी बन महिला को लिफाफा थमा फिर लूटी चेन

By: Vikas Choudhary

Updated On:
14 Aug 2019, 01:24:07 AM IST

  • - अग्रसेन नगर के बाद अब सरस्वती नगर में वारदात, दोनों वारदातों में एक ही लुटेरे का अंदेशा
    - लूट की लगातार वारदातों के बाद पुलिस पर सवालिया निशान, लुटेरे का सुराग नहीं
    - सात दिन में औसतन रोज एक लूट

जोधपुर.

कूरियरकर्मी बनकर लिफाफा या डाक देने के बहाने घर में घुसकर अकेली महिलाओं के गले से सोने की चेन लूटने वाला लुटेरा शहर में सक्रिय है। खेमे का कुआं के पास अग्रसेन नगर में महिला की चेन लूटने के छह दिन बाद कूरियरकर्मी बना लुटेरा बासनी के सरस्वती नगर सेक्टर ए में लिफाफा देने के बाद हस्ताक्षर करने के बहाने झुकी महिला के गले से सोने की चेन लूटकर भाग निकला। पुलिस लुटेरे का कोई सुराग नहीं लगा पाई है। दोनों वारदातों में एक ही लुटेरे की आशंका जताई गई है।

बासनी थाने के उप निरीक्षक जेठाराम के अनुसार सरस्वती नगर सेक्टर ए निवासी दुर्गादेवी पत्नी दिनेश कुमार टाक के घर दोपहर में एक व्यक्ति ने घंटी बजाई। उसने खुद को कूरियरकर्मी बताया और बतौर डाक लिफाफा आने की जानकारी दी। उसने हेलमेट पहन रखा था। वृद्धा को घर में अकेले ही छोड़ दुर्गादेवी बाहर आईं। लुटेरे ने उसे लिफाफा दे दिया। मौका न मिलने पर वह बाहर आ गया। कुछ देर बाद वह दुबारा वहां आया और फिर घंटी बजाई। महिला ने कारण पूछा तो युवक ने उसे लिफाफा लेने के संबंध में हस्ताक्षर बाकी रहने की जानकारी दी।
महिला ने दीवार पर लगी रैलिंग के बीच से हस्ताक्षर करने के लिए एक कागज व पेन लेकर हस्ताक्षर करने लगी। लुटेरा बाइक चालू रखकर उस पर बैठा रहा। इस बार भी उसे मौका नहीं मिला। महिला साइन कर लौटने लगी। तब युवक ने उस कागज पर मोबाइल नम्बर लिखने के बहाने फिर आवाज दी। इस बार महिला मोबाइल नम्बर लिखने के लिए झुकी। लुटेरे ने रैलिंग के बीच से हाथ डालकर गले में पहनी सोने की चेन लूट ली और भाग निकला।

एक चौथाई चेन हाथ में रही, शेष लूट ले गया
युवक ने जैसे ही गले में झपट्टा मारा तो महिला ने हल्का प्रतिरोध किया। बीच में रैलिंग भी थी। एेसे में चेन के दो टुकड़े हो गए। एक चौथाई हिस्सा महिला के पास रह गई और शेष लुटेरा लेकर भाग निकला। महिला के चिल्लाने पर पड़ोसी जमा हो गए और लुटेरे की तलाश की, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा।

दोनों वारदातों में लिफाफे में नमकीन दुकान के पेम्फलेट्स
गत छह अगस्त को खेमे का कुआं के पास अग्रसेन नगर में कूरियरकर्मी बनकर लिफाफा देने के बहाने एक महिला के गले से सोने की चेन लूट ली गई थी। चार दिन बाद शास्त्रीनगर थाने में मामला दर्ज किया गया था। उस लिफाफे में नमकीन की एक दुकान के उद्घाटन पर छपवाए जाने वाले पेम्फलेट्स थे। दूसरी वारदात में भी यही पेम्फलेट्स निकले। दोनों लूट में एक जैसी मोटरसाइकिल है। एेसे में पुलिस को अंदेशा है कि दोनों वारदातों में एक ही लुटेरा हो सकता है।

पिछले सात दिन में लूट की नौ वारदातें
- महामंदिर थानान्तर्गत रसाला रोड पुल के नीचे बालाजी मंदिर के पास छात्र से मोबाइल लूट।

- देवनगर थानान्तर्गत १२वीं रोड से बोम्बे मोटर्स सर्किल के बीच छात्र से मोबाइल लूट। (आरोपी पकड़ा)
- देवनगर थानान्तर्गत दल्ले खां की चक्की सर्किल के पास युवती के मोपेड के आगे रखा बैग लूट।

- सरदारपुरा थानान्तर्गत चतुर्थ डी रोड पर पैदल सडक़ क्रॉस कर रही महिला के गले सोने की चेन लूट।
- चौहाबो थानान्तर्गत निजी अस्पताल के पास मोपेड सवार युवक के गले से चेन लूट। उसकी माता के गले से भी चेन लूट की कोशिश की गई थी।

- शास्त्रीनगर थानान्तर्गत ट्रैवल्स एजेंसी के सामने छात्र से मोबाइल लूट। (आरोपी पकड़ा)
- अग्रसेन नगर में कूरियरकर्मी बनकर आए युवक ने लिफाफा देने के बहाने महिला से सोने की चेन लूटी।

- शास्त्रीनगर थानान्तर्गत ट्रैवल्स एजेंसी के पास एक व्यक्ति के हाथ से मोबाइल लूट।
........

पत्रिका व्यू : अनजान व्यक्ति से दूरी बनाकर बात करें
लूटेरे दोपहर का समय और महिलाओं को वारदात के लिए चुनते हैं। साथ ही सुनसान जगह और आसानी से भागने वाला क्षेत्र काम में लेते हैं। एेसे में आमजन किसी भी अनजान व्यक्ति के घर में आने या घंटी बजाने पर सीधे नजदीक न जाएं। उनसे कुछ दूरी बनाकर बात करें। अनजान व्यक्ति को घर में ही न आने दें। पूरी तरह तस्दीक करने के बाद ही उससे बात करें। एेसे किसी व्यक्ति पर संदेह होता है तो तुरंत नजदीकी पुलिस स्टेशन अथवा पुलिस कन्ट्रोल रूम में नि:शुल्क १०० पर सूचना दें। लुटेरे के पास यदि कोई वाहन है तो उस पर लिखे पंजीयन नम्बर व अन्य जानकारी लेने का प्रयास किया जाए।

.....................

टीमें लगाईं गई हैं, जल्द पकड़ में आएंगे
‘लुटेरों को पकडऩे व वारदातें रोकने के लिए टीमें लगाईं गईं हैं। चेन लूट करने वालों की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं। कूरियरकर्मी बनकर वारदातें करने वाले की पहचान नहीं हो पाई हैं। जल्द ही पकड़ में आने की उम्मीद है।’

प्रीति चन्द्रा, पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) जोधपुर।

Updated On:
14 Aug 2019, 01:24:07 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।