पेशी के बाद चालानी गार्ड से हाथ छुड़ा बंदी मोटरसाइकिल पर बैठ फरार

By: Vikas Choudhary

Published On:
Aug, 14 2019 01:13 AM IST

 
  • - अदालत परिसर में दिनदहाड़े वारदात

जोधपुर.
चोरी के मामले में पेशी के बाद अदालत परिसर की अस्थाई जेल में ले जाने के दौरान मंगलवार दोपहर १२.३० बजे चालानी गार्ड से हाथ छुड़ाकर बंदी भाग निकला। चालानी गार्ड ने पीछा भी किया, लेकिन बंदी व उसका साथी पकड़ में नहीं आए। पुलिस ने जिले भर में नाकाबंदी कराई, लेकिन रात तक आरोपी का सुराग नहीं लग पाया। उदयमंदिर थाने में मामला दर्ज किया गया है।

थानाधिकारी प्रदीप शर्मा के अनुसार बाड़मेर में बायतु थानान्तर्गत तवओं की ढाणी निवासी कौशलाराम (२२) पुत्र खेराजराम जाट एनडीपीएस एक्ट का आरोपी है। चोरी के एक अन्य मामले में मंगलवार को उसकी पेशी थी। जोधपुर जेल से अन्य बंदियों के साथ मंगलवार सुबह उसे अदालत परिसर लाया गया, जहां अस्थाई जेल (हवालात) में रखा गया। लंच से पहले सुनवाई पर उसे कोर्ट में पेश कर दिया गया। सुनवाई के बाद दोपहर करीब १२.३० बजे दो चालानी गार्ड उसके हाथ पकडक़र दुबारा जेल परिसर ला रहे थे। बीच रास्ते में ही उसने धक्का-मुक्की कर चालानी गार्ड से अपने हाथ छुड़ाए और वहां आए साथी के साथ मोटरसाइकिल पर पीछे बैठकर भाग निकला। चालानी गार्ड ने उसका पीछा भी किया, लेकिन दोनों पकड़ में नहीं आए।
पुलिस ने जिले भर में नाकाबंदी कराई। बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन आदि स्थानों पर सघन तलाश शुरू कराई गई, लेकिन न तो बंदी पकड़ में आया और न ही उसे भगा ले जाने वाले युवक का पता लग पाया। वारदात में प्रयुक्त मोटरसाइकिल का भी सुराग नहीं लग सका है।

पूर्व नियोजित थी फरार होने की योजना
पुलिस का कहना है कि पेशी के बाद जब बंदी को वापस अस्थाई जेल ले जाया जा रहा था, तब पीछे से एक बाइक पास आकर रुकी। उसे देख बंदी कोशलाराम ने चालानी गार्ड से धक्का-मुक्की कर हाथ छुड़ा लिया और उसके पीछे बैठ फरार हो गया।

मोटरसाइकिल पर फर्जी नम्बर का अंदेशा

वारदात के बाद पुलिस ने मौके और आस-पास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। जिसमें बंदी को भगाकर ले जा रहे व्यक्ति और बाइक के नम्बर प्लेट की फोटो कैद हो गई। जो बाड़मेर नम्बर की है। जांच के बाद पुलिस ने यह पंजीयन नम्बर फर्जी होने की आशंका जताई है।
अदालत परिसर में सुरक्षा बंदोबस्त की खुली पोल

हाईकोर्ट परिसर व निचली अदालतों में आने वाले अपराधियों से सुरक्षा के लिए लम्बे अर्से से हथियारबंद पुलिस और आरएसी के जवान तैनात किए जा रहे हैं। उदयमंदिर थाने की एक चौकी भी हाईकोर्ट परिसर में मौजूद है। सादे वस्त्रों में भी पुलिसकर्मी तैनात रहते हैं। ये सारे इंतजाम धरे रह गए।

Published On:
Aug, 14 2019 01:13 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।