कांस्टेबल पर फायरिंग के दो आरोपी गिरफ्तार, पिस्तौल व 4 कारतूस जब्त

By: Vikas Choudhary

Published: 08 Apr 2021, 12:55 AM IST

 
  • - रात्रिगश्त के दौरान पांव में गोली मारकर रतलाम भागा था आरोपी, लौटते ही पकड़ा
    - दूसरे आरोपी को एनसीबी ने अहमदाबाद में पांच किलो अफीम सहित किया था गिरफ्तार

जोधपुर.
लूनी थाना पुलिस ने खेजड़ली में रात्रिगश्त के दौरान फायरिंग कर कांस्टेबल को घायल करने के मामले में दो और युवकों को गिरफ्तार किया। फायरिंग करने के मुख्य आरोपी को जोधपुर शहर व उसके सहयोगी को गुजरात की साबरमती सेन्ट्रल जेल से प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार किया गया। एक युवक से एक पिस्तौल व चार जिंदा कारतूस जब्त किए गए हैं।

थानाधिकारी सीताराम पंवार ने बताया कि गत 28 फरवरी की रात गश्त के दौरान खेजड़ली गांव में पुलिस ने एसयूवी व उसे एस्कॉर्ट कर रही कार रोकने का प्रयास किया था। पुलिस से पीछा छुड़ाने के लिए आरोपियों ने पुलिस पर फायरिंग की थी। पुलिस जीप का दरवाजा चीरकर चालक कांस्टेबल रामनिवास के पांव में गोली लगी थी। फायरिंग के बाद आरोपी भाग गए थे। जांच व तलाश के बाद पुलिस ने गत माह मनीष बिश्नोई को गिरफ्तार किया था। इस बीच, विशेष टीम के उप निरीक्षक सरजिल मलिक व कांस्टेबल अविनाश ने बुधवार को जोधपुर शहर से फींच गांव निवासी भूराराम उर्फ सुनील (23) पुत्र घेवरराम बिश्नोई को पकड़ लिया। उसी ने कांस्टेबल के पांव में गोली मारी थी। इसके बाद वह मध्यप्रदेश के रतलाम भाग गया था, जहां से लौटने पर गिरफ्तार किया गया। उससे एक पिस्तौल व चार जिंदा कारतूस जब्त किए गए हैं।
पांच किलो अफीम के साथ गिरफ्तार

उधर, हमले के बाद फरार फींच में हमीर नगर निवासी रमेश बिश्नोई गत 20 मार्च को अहमदाबाद में पांच किलो अफीम के साथ एनसीबी की विशेष इकाई के हत्थे चढ़ गया था। एनसीबी ने उसे न्यायिक अभिरक्षा में भिजवाया था। तब लूनी थाना पुलिस प्रोडक्शन वारंट पर साबरमती सेन्ट्रल जेल से गिरफ्तार किया।

Published: 08 Apr 2021, 12:55 AM IST

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।