प्राईवेट नौकरी छोड़ने वालों को सरकार दे रही हैं ये बड़ी सुविधा, जानिए डिटेल्स

By: Sunil Sharma

Published On:
Mar, 11 2019 12:30 PM IST

  • ईपीएफओ सी-डैक के साथ अपनी कार्यप्रणाली को कागजरहित बनाने की दिशा में भी काम कर रहा है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के अपने सदस्यों को अब नौकरी बदलने की सूरत में ईपीएफ को ट्रांसफर करने के लिए आवेदन नहीं करना होगा। अगले वित्त वर्ष से यह प्रक्रिया अपने आप होने जा रही है। श्रम मंत्रालय के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी है।

ये भी पढ़ेः योग टीचर की निकली जॉब, 2,50,000 रुपए महीना होगी तनख्वाह, 1 जून तक करें अप्लाई

ये भी पढ़ेः अगर आजमाएंगे ये टिप्स तो आपको करोड़पति बनने से कोई नहीं रोक सकता

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में ईपीएफओ के सदस्य को नौकरी बदलने के बाद ईपीएफओ के लिए ट्रांसफर फाइल करना पड़ता है। सदस्य को यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) होने के बावजूद ऐसा करना पड़ता है। ईपीएफओ के पास हर साल आठ लाख ईपीएफ ट्रांसफर दावे के आवेदन आते हैं। आपको बता दें कि वर्तमान में यह प्रोसेस कंपनियों अथवा एम्प्लॉइज के द्वारा ही किया जा रहा है जिसमें काफी समय लगता है।

ईपीएफओ सी-डैक के साथ अपनी कार्यप्रणाली को कागजरहित बनाने की दिशा में भी काम कर रहा है। फिलहाल 80 फीसदी काम ऑनलाइन माध्यम से हो रहा है। अधिक जानकारी के लिए आप ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट https://www.epfindia.gov.in/site_hi/For_Employees.php भी देख सकते हैं।

Published On:
Mar, 11 2019 12:30 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।