मनाली में सेल्फी लेते नदी में डूबा झुंझुनूं का बालक, बेटे को बचाने के लिए पिता ने भी लगाई नदी में छलांग

By: Dinesh Saini

Updated On:
12 Jun 2019, 11:32:43 AM IST

  • स्थानीय प्रशासन की ओर से बालक को ढूंढऩे का प्रयास किए जा रहे हैं। फिलहाल उसका पता नहीं चल पाया है...

झुंझुनूं।

परिवार के साथ मनाली घूमने गया नूआं सरपंच पूनम किलानियां का बेटा निशांत (11) सेल्फी लेते समय संतुलन बिगडऩे पर मनाली से 18 मील के पास ब्यास नदी ( Vyas River ) में गिर गया। स्थानीय प्रशासन की ओर से बालक को ढूंढऩे का प्रयास किए जा रहे हैं। फिलहाल उसका पता नहीं चल पाया है।

 

जानकारी के मुताबिक नूआं सरपंच पूनम, पति हेमराज व बेटों-परिजनों के साथ कुल्लू-मनाली भ्रमण के लिए गई हैं। सोमवार सुबह मनाली से कुछ दूर स्थित 18 मील के पास वे लोग सेल्फी लेने के लिए रुक गए। यहां सेल्फी लेते वक्त निशांत का संतुलन बिगडऩे से ब्यास नदी में जा गिरा। बेटे को नदी में गिरता देखकर पिता हेमराज बचाने के लिए पीछे से कूद पड़े, लेकिन तेज बहाव व गहराई अधिक होने के कारण बच्चे को पकड़ नहीं पाए।

 

इधर पिता बना हैवान, 7 साल के बेटे की पीट-पीटकर हत्या कर खेत में दबाया शव
वहीं इधर दौसा के राजगढ गांव में सोमवार रात धन्तूरी निवासी प्रशांत उर्फ रोहताश ने 7 वर्षीय मासूम अंशु की डंडे व पत्थर से पीट-पीट कर हत्या कर दी और उसका शव खेत में गाड़ दिया। शक के आधार पर पुलिस ने आरोपी को पकड़ कर उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने वारदात स्वीकार कर ली। ग्रामीणों ने बताया कि प्रशांत और अंशु के पिता रामभरोसी के बीच तीन दिन पहले मोटर की केबल चोरी करने के मामले को लेकर कहासुनी हो गई थी। प्रारम्भिक तौर पर पुलिस अंदेशा जता रही है कि इस कहासुनी का बदला लेने के लिए प्रशांत ने मासूम को मौत के घाट उतार दिया। इससे पहले प्रशांत पुलिस को बार-बार कहानी बदलकर घुमाता रहा। उसके साथ सख्ती की गई तो वह टूट गया और उसने सारी बात बता दी। बाद में उसकी निशानदेही पर पुलिस ने शव को बरामद कर लिया।

Updated On:
12 Jun 2019, 11:32:43 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।