बजट@360 डिग्री: झुंझुनूं को क्या मिला और क्या नहीं

By: Jitendra Kumar Yogi

Updated On:
11 Jul 2019, 12:59:11 PM IST

  • स्थानीय स्तर पर केवल उदयपुरवाटी और सूरजगढ़ उपखंड 921 गांव और 573 ढाणियों के घरों में पानी पहुंचाने की घोषणा की गई है। यह पानी इंदिरा गांधी नहर परियोजना के तहत कुंभाराम लिफ्ट कैनाल से मिलेगा। परंतु इस योजना से मंडावा विधानसभा क्षेत्र का जिक्र तक नहीं किया गया है। इसके अलावा चार हजार से अधिक आबादी वाले गांवों को पाइप लाइन से जोड़कर पानी पहुंचाने की घोषणा की गई है। यह घोषणा पहले भी हो चुकी है, लेकिन यहां सीवरेज नहीं होने के कारण जापान के बैंक ने इसे रोक दिया था।अब यहां फिर से पानी की घोषणा की गई है।

झुंझुनूं. प्रदेश की कांग्रेस सरकार की ओर से बुधवार को पेश किए गए पहले बजट में झुंझुनूं के लिए कुछ खास घोषणाएं नहीं की गई है। बजट में घोषित की गई प्रदेश स्तरीय योजनाओं से जरूर यहां की जनता के हिस्से में कुछ खुशियां आएंगी। इसके अलावा स्थानीय स्तर पर केवल उदयपुरवाटी और सूरजगढ़ उपखंड 921 गांव और 573 ढाणियों के घरों में पानी पहुंचाने की घोषणा की गई है। यह पानी इंदिरा गांधी नहर परियोजना के तहत कुंभाराम लिफ्ट कैनाल से मिलेगा। परंतु इस योजना से मंडावा विधानसभा क्षेत्र का जिक्र तक नहीं किया गया है। इसके अलावा चार हजार से अधिक आबादी वाले गांवों को पाइप लाइन से जोड़कर पानी पहुंचाने की घोषणा की गई है। यह घोषणा पहले भी हो चुकी है, लेकिन यहां सीवरेज नहीं होने के कारण जापान के बैंक ने इसे रोक दिया था।अब यहां फिर से पानी की घोषणा की गई है।


खेल: खेल विश्वविद्यालय के लिए कुछ नहीं
दोरासर गांव में प्रस्तावित खेल विश्वविद्यालय के लिए कोई घोषणा नहीं की गई है।?जिससे अंचल की खेल प्रतिभाओं की उम्मीदों पर पानी फिर गया है।


शिक्षा: नए स्कूल खुलेंगे और पुराने क्रमोन्नत होंगे
शिक्षा के क्षेत्र में नए स्कूल खोले जाएंगे और पहले से चल रहे उन्हें क्रमोन्नत किया जाएगा। साथ ही दिव्यांगों के लिए मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा छात्रवृत्ति योजना शुरू की गई है। जिससे झुंझुनूं जिले के दिव्यांगों को इसका लाभ मिलेगा। साथ ही उपखंड स्तर पर प्लानिंग कर महाविद्यालय खोलने की घोषणा की गई है। जिसके चलते वंचित उपखंडों को महाविद्यालय खुलने की संभावनाओं को पंख लग सकते हैं।


सड़क: नेशनल हाइवे को विकसित करने के लिए झुंझुनूं खाली हाथ
बजट में कई जिलों समेत सीकर जिले से गुजर रहे राज्य मार्गों को विकसित करने की घोषणा की गई है। इससे झुंझुनूं को वंचित रखा गया है। इसके अलावा प्रदेश स्तरीय की गई घोषणा छोटे-छोटे गांवों को सड़कों से जोडऩे की योजना से कई गांवों को फायदा हो सकता है।


बिजली: सौर ऊर्जा को बढ़ावा
बजट में प्रदेश के जिलों में 33केवी सब स्टेशनों के पास किसानों की अनुपयोगी पड़ी भूमि पर सौर ऊर्जा के पांच सौ किलोवाट से दो मेगावाट तक के ऊर्जा संयंत्र लगाए जाएंगे। इसके दायरे में झुंझुनूं जिले के कई सब स्टेशन आएंगे। साथ ही किसानों को सोलर पंप उपलब्ध, कृषि कनेक्शनों के लिए अलग से फीडर स्थापित करने, किसानों को दो ब्लॉकों में बिजली उपलब्ध कराने के लिए 33 केवी सब स्टेशनों पर छह सौ?के करीब ट्रांसफार्मर लगाने से अंचल के किसानों को फायदा होगा।


रोजगार: मिलेगा स्वरोजगार के लिए एक लाख रुपए का ऋण
हुनर का हर हाथ, रहे रोजगार के साथ के तहत की गई मुख्यमंत्री युवा रोजगार योजना की घोषणा का झुंझुनूं के युवाओं को फायदा मिल सकेगा। सरकारी विभागों में नौकरियों की घोषणा से युवाओं में रोजगार मिलने की उम्मीद बंधी है।


झुंझुनूं हवाई पट्टी होगी विकसित
झुंझुनूं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से बजट में झुंझुनूं में कई सालों से बनी विकास की बाट जो रही हवाई पट्टी के विकास पर ध्यान दिया गया है।बजट में मुख्यमंत्री की ओर से हवाई पट्टी को विकसित करने की घोषणा की गई है।जानकारों की माने तो जिले से हर साल बड़ी संख्या में लोग कमाने के लिए विदेशों में जाते हैं।हवाई सुविधा उपलब्ध नहीं होने के कारण उन्हें जयपुर जाना पड़ता है।घोषणा से हवाई पट्टी क्षेत्र में सुविधाओं का विस्तार होने से झुंझनूं वासियों को हवाई सुविधा मिलने की उम्मीद बंधी है।साथ ही लोगों को रोजगार भी मिलेगा।


20 थानों में कार्यरत पुलिस कर्मियों पर रहेगी तीसरी आंख की निगरानी
जिले के थानों में बैठने वाले पुलिस कर्मियों पर नजर रखने के लिए शीघ्र ही सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।अक्सर लोगों की शिकायत रहती है कि थानों में फरियाद लेकर पहुंचने पर पुलिस कर्मियों का व्यवहार ठीक नहीं रहता है।फरियादियों से सीधे मुंह बात नहीं कर अपराधियों की तरह से सलूक किया जाता है।पूछताछ के नाम पर कई दिनों तक हवालात में रखकर मानसिक तौर पर प्रताडि़त किया जाता है।इसको देखते हुए जिले के सभी 20 थानों में कार्यरत पुलिसकर्मियों की निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।जिले के सभी थानों में दो साल के भीतर कैमरे लगाने का काम पूरा हो जाएगा।ऐसे में थानों में कार्यरत सभी पुलिस कर्मियों की मॉनिटरिंग आसानी से हो सकेगी।पुलिस कर्मियों पर कैमरे की नजर होने से व्यवहार में भी सुधार आएगा।


हर पंचायत समिति मुख्यालय पर नंदीशाला
झुंझुनूं में जिला मुख्यालय पर संचालित श्री गोपाल नंदीशाला की तर्ज पर अब जिले की सभी पंचायत समिति मुख्यालय पर नंदीशाला बनाई जाएगी। बेसहारा नंदी आमजन के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में नंदी किसानों की फसलों को चौपट कर देते हैं। उक्त समस्याओं से निजात पाने के लिए ग्रामीण आंदोलन भी कर चुके हैं। जिला मुख्यालय पर बनाई गई नंदीशाला में शहर के बेसहारा नंदी को रखा जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में इसकी कमी खल रही थी। बेसहारा नंदी आमजन व पर्यटकों को भी कई बार घायल कर चुके हैं। सरकार की बजट घोषणा के बाद अब जिले में झुंझुनूं, नवलगढ़, चिड़ावा, बुहाना, उदयपुरवाटी, अलसीसर, खेतड़ी व सूरजगढ़ में नंदीशालाओं का निर्माण किया जाएगा।


किसानों के लिए बनेंगे गोदाम
राज्य सरकार ने किसानों के लिए गोदाम बनाने की घोषणा भी की है। गोदाम बनने से किसानों को अपना अनाज रखने के लिए सुविधा मिलेगी। उन्हें अनाज रखने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।


इनका मानदेय बढ़ा, कार्यकर्ताओं को फायदा
आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को अब साढ़े सात हजार, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 5750 रुपए व सहयोगिनियों को 4250 रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे।

Updated On:
11 Jul 2019, 12:59:11 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।