कश्मीर में तैनात भाईयों को राखी नही भेज पाई बहने

By: Jitendra Jaikey

Published On:
Aug, 13 2019 06:07 PM IST

  • अपने भाई को स्वयं बनाई राखी बांधेगी आदिवासी किशोरियां

कश्मीर में तैनात भाईयों को राखी नही भेज पाई बहने
-सुरक्षा कारणों से घाटी में डाक, संचार व कोरियर सेवा बंद होने से अटका काम
-जितेंद्र जैकी-
झालावाड़. जम्मू कश्मीर में तैनात फौजी भाईयों के पास इस साल जिले की बहनें राखी व संदेश आदि नही भेज पा रही है। क्योकि सुरक्षा कारणों से वहां कोई डाक नही जा रही है। विभाग की ओर से भी सख्त निर्देश जारी किए जा चुके है। इस कारण जम्मू कश्मीर में डाक, संचार कोरियर सेवा बिलकुल बंद है। जिले में करीब एक सौ से अधिक सैनिक जम्मू कश्मीर में तैनात बताए जाते है। इन सबकी बहने हर वर्ष रक्षाबंधन पर राखी व मिठाई आदि डाक व कोरियर आदि से भेजती है व संचार सेवा के माध्यम से संदेश भेजती है लेकिन इस बार जिले में फौजियों की बहने मजबूर है।
-जारी हो चुके आदेश
डाक विभाग के दिल्ली स्थित मुख्यालय से पांच अगस्त को पूरे देश के डाकघरों के लिए आदेश जारी किए गए कि जम्मू कश्मीर जाने वाली सभी डाक, रजिस्ट्री, पार्सल, स्पीड पोस्ट व राखियां आदि के पार्सल पर आगामी आदेश तक रोक लगाई जाती है। इसलिए फिलहाल जिला मुख्यालय के डाकघर में भी वहां के लिए बुकिंग बंद है।
-निजी कोरियर सेवा भी नहीं
जिला मुख्यालय पर संचालित निजी कोरियर सर्विस वालों का कहना है कि उनकी सर्विस की ओर से भी जम्मू कश्मीर में डाक व पार्सल आदि की बुकिंग नही की जा रही है क्योकि वहां तक डाक नही पहुंच पा रही है।
-आगामी आदेश तक बंद है
इस सम्बंध में जिला मुख्यालय पर स्थित डाकघर के प्रभारी रामदयाल वर्मा का कहना है कि मुख्यालय से आदेश आने के कारण जम्मू कश्मीर के लिए डाक, पार्सल व रजिस्ट्री की बुकिंग आगामी आदेश तक बंद कर दी गई है। फिलहाल जिले में जितनी भी सामान्य व डिब्बें में प्राप्त होने वाली डाक आ रही है, उसे कोटा मुख्यालय भेजा जा रहा है।

अपने भाई को स्वयं बनाई राखी बांधेगी आदिवासी किशोरियां
-महिला शिक्षण विहार में उत्साहित है बहने
-जितेंद्र जैकी-
झालावाड़. जिला मुख्यालय पर संचालित महिला शिक्षण विहार में रह रही बारां जिले के आदिवासी क्षेत्र की गरीब किशोरियां रक्षा बंधन के दिन अपने हाथों से बनाई राखियां ही अपने भाईयों को बांधेगी। रक्षा बंधन पर उनके भाई महिला शिक्षण विहार में आएगे। इसके लिए किशोरियों ने अपनी अध्यापिका रौशनी गौरी से राखी बनाना सीख लिया है और सुंदर सुंदर राखियां तैयार भी कर ली है। मंगलवार शाम महिला शिक्षण विहार में राखियों को नये नये रुप देकर सुंदर बनाने में जुटी मनीषा सहरिया, रविना सहरिया, कृष्णा, नीरु, निर्मला, निशा, जसोदा, उर्मिला, रेखा, राधा, पलक व रानी आदि ने बताया कि इस साल उन्होने कई प्रकार की डिजाईदार व विभिन्न वैराईटी की राखी बनाना सीख ली है। रक्षा बंधन पर विहार में आने पर उनके भाईयों की कलाई पर वह यहीं राखियां सजाएगी। प्राचार्या निर्मला सोगानी ने बताया कि रक्षा बंधन का त्यौहार महिला शिक्षण विहार में ही मनाया जाएगा। लड़कियों को उनके गांव नही भेजा जाएगा। इनके भाई यहीं आएगें व राखी बंधवाएगे।

Published On:
Aug, 13 2019 06:07 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।