बाबा रामदेव के जयकारों से गंूजी गलियां-बाजार

By: Jagdish Paraliya

Published On:
Sep, 12 2018 03:59 PM IST

  • लोक देवता की जयंती : कहीं शोभायात्राएं निकाली, कहीं भंडारे हुए तो कहीं मेले भी लगे

झालावाड़. लोक देवता बाबा रामदेव जयंती दोज पर मंगलवार को जिले भर में विभिन्न कार्यक्रम हुए। इस दौरान शोभायात्राएं निकाली गई व भंडारें में भोजन प्रसादी ग्रहण की। भजन कीर्तन हुए। जिला मुख्यालय पर धानुक समाज व रैगर समाज की ओर से बाबा रामदेव की पालकी की शोभायात्रा निकाली गई। बसेड़ा मोहल्ला स्थित मंदिर से बसेड़ा बांसफोड़ धानुक सामज की ओर से बाबा रामदेव की पालकी की शोभायात्रा समाज के अध्यक्ष बालकिशन बसेड़ा की अगुवाई में श्रद्धालुओं ने नृत्य करते शोभायात्रा निकाली। इससे पहले सोमवार रात आयोजित भजन संध्या में भजन गायक महावीर शर्मा ने कई भजन प्रस्तुत किए। मुख्य अतिथि पार्षद शिवराज, कन्हैया लाल यादव व गिरधर गोपाल यादव रहे। पुराना कांजीबाड़ा स्थित बाबा रामदेव मंदिर से भी बाबा रामदेव बैरवा सामज उत्थान समिति रैगर बस्ती की ओर से शोभायात्रा निकाली गई। इस दौरान अध्यक्ष मदनलाल वर्मा, रामप्रसाद वर्मा, हेमराज, देवानंद, केलाप्रसाद, रामस्वस्प आदि की अगुवाई में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। सिघानिया के निकट नयागांव लुहाडिया देह में मोतिया खल पावर हाऊस से शोभायात्रा बाबूलाल मीणा, संजय मीणा, गोपाल मीणा, भीम मीणा व बबलू मीणा की अगुवाई में निकाली गई। कलश यात्रा में महिलाओं ने बड़ी संख्या में भाग लिया। बाद में भंडारा आयोजित किया गया।

खम्मा खम्मा ओ रामा रूणिजा रे धणिया...

झालरापाटन. लोक देवता बाबा रामदेव की जयंती पर रैगर समाज के तत्वावधान में सूरजपोल दरवाजा बाहर स्थित मंदिर से शोभायात्रा निकाली। मार्ग में दिनेश, महेन्द्र, उमेश, लालचंद, मुकेश व लेखराज की अगुवाई में पुष्प वर्षा की। गांव गिरधरपुरा नयागांव में भी लोगों ने शोभायात्रा निकाली। बाबा रामदेव मंदिर समिति व भण्डारा समिति के तत्वावधान में वार्ड गिन्दौर में शोभायात्रा निकाली।

भवानीमंडी. कस्बे में बाबा रामदेव का जन्मोत्सव मनाया। वाल्मिकी समाज, गाडिय़ा लुहार परिवार, मेघवाल समाज ने जुलूस निकाले। मेला मैदान स्थित बाबा रामदेव मंदिर से शोभायात्रा रवाना हुई। अखाड़ेबाजों ने प्रदर्शन किया। वहीं झांकी आकर्षण का केन्द्र रही।

सुनेल. कस्बे में मेघवाल मोहल्ले स्थित बाबा रामदेव मंदिर से शोभायात्रा निकाली। इसमें महिलाए व पुरुष भजन-कीर्तन व जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। सुनेल. वाल्मीकी समाज ने अंबेड़कर भवन से शोभायात्रा निकाली, जो रामदेव के थानक पर पहुंची। वहां महाआरती की। वहीं कादरनगर और संागरिया में भी जन्मोत्सव मनाया।

खानपुर. मेघवाल समाज ने शोभायात्रा निकाली। जुलूस मेला मैदान स्थित रामदेव मंदिर से प्रारंभ हुआ। जुलूस का गुदरी चोराहे पर ग्राम पंचायत की और से सरपंच ललित राठौर, छल्ला मोहल्ले में पंचायत समिति सदस्यअमरलाल वर्मा, सांई सेवा समिति के मनोज गुर्जर ने अल्पाहार के साथ स्वागत किया। जुलूस में जिला उपाध्यक्ष रामनारायण वर्मा, मंदिर अध्यक्ष रामलखन मेघवाल, कोषाध्यक्ष ओमप्रकाश, फूलचन्द टेलर आदि ने भाग लिया।

मनोहरथाना. तंवर समाज के तत्वावधान में रामदेवजी का जन्मोत्सव मनाया। इसके बाद कार्यक्रम में मुख्य अतिथि अधिकारी-कर्मचारी संघ जिला अध्यक्ष डॉ. हुकम चंद मीणा, विशिष्ट अतिथि पूर्व विधायक कैलाश मीणा, राजस्थान खाद्य बोर्ड समिति सदस्य गोविन्द रानिपुरिया, प्रधान मोरम बाई तंवर, अकलेरा प्रधान बैनाथ मीणा, अध्यक्षता तंवर समाज जिला अध्यक्ष रोशन सिंह तंवर, नवयुवक मंडल जिला अध्यक्ष रामप्रसाद तंवर, छात्र संघ जिला अध्यक्ष रामस्वरूप तंवर, प्यारे लाल तंवर, मांगीलाल अध्यापक आदि ने विचार व्यक्त किए। सभी वक्ताओं ने शिक्षा एवं कुरीतियों मिटाने पर बल दिया।

अकलेरा. बाबा रामदेव का जन्मोत्सव मेघवाल समाज ने हर्षोउल्लास से मनाया। मेघवाल समाज प्रदेश सचिव गोपाल मेघवाल ने बताया कि जुलूस की झांकियां मन्दिर टोडी मोहल्ला से 2 बजे शुरु हुई। समिति की मुख्य झांकी, बाबा रामदेव एवं घुड़सवारों पर पचरंगी ध्वजा लेकर चल रहे युवाओं एवं घोड़ी का नृत्य आकृर्षक रहा। शोभायात्रा की व्यवस्था में रामनारायण छोटूलाल, दुर्गाशंकर, प्रेमचन्द, प्रभूलाल, रंगलाल, रूपचन्द, जगदीश प्रसाद, मोहन केवची, घनश्याम, राजेन्द्र कुमार, नवयुवक मण्डल अध्यक्ष उमेश कुमार आदि कार्यकताओं ने भाग लिया। वहीं मनोहरथाना विधायक कंवरलाल मीणा एवं सलीम खान एवं दुर्गा प्रसाद और नरेश वर्मा ने पूजा-अर्चना की। इस दौरान राजेन्द्र वर्मा, इन्द्रदेव वर्मा, विजय पाल विजय पारेता आदि मौजूद रहे। सरड़ा में भी शोभायात्रा निकाली।

पिड़ावा. खटीक समाज ने मायाखेड़ी तिराहे स्थित मन्दिर से शोभायात्रा निकाली। युवा पालकी को कांधों पर उठाए जयकारे लगाते चल रहे थे। शोभायात्रा में बड़ी संख्या में महिला पुरुष श्रद्धालु शामिल थे।

डग. कस्बे में वाल्मिकी समाज ने पालकी निकाली। रामलाल और उमरवाल ने बताया कि पालकी अंबेडकर भवन से प्रारंभ हुई। बुधवारीया दरवाजा, बस स्टैण्ड, गंगधार गेट होते हुए गंतव्य पहुंची, जहां आरती हुई।

चौमहला. मेहर समाज की शोभायात्रा बाबा रामदेव मंदिर से शुरू हुई। रामदेवरा में धार्मिक कार्यक्रम हुए। चौमहला, गंगधार सहित आसपास क्षेत्र के समाज के लोग उपस्थित थे।

रायपुर. मण्डलों-संगठनों ने शोभायात्रा निकाली। भाजपा नेता द्वारका प्रसाद प्रजापति ने बताया कि कचराखेड़ी गांव में बाबा रामदेवजी के मन्दिर व गौदड साब महाराज व भगत रामलालजी की समाधि पर चल रही सप्ताहजी के समापन पर कलशयात्रा निकाली। वहीं कालाबरड़ा में कलशयात्रा निकाली और ४५ दिवसीय अखण्ड रामायण पाठ की पूर्णाहूति हुई। कालीतलाई में भी शोभायात्रा निकाली।

रटलाई. कस्बे में करीब 5 जगहों पर भण्डारों का समापन हुआ। इस मौके पिर कस्बे में 5 संगठनों ने बाबा रामदेव की झांकी बनाकर उसका जुलूस निकाला ।

रीछवा. तीनधार चौराहे पर भंडारे से गांव में होते हुए मंदिर तक जुलूस निकाला। पूर्व सरपंच विजयसिंह मीणा,जगदीश, रामलाल, हल्का पटवारी जितेन्द्र कुमार, लालचन्द, कन्हीराम आदि अन्य कई श्रद्धालु शामिल रहे। इकवासा झिरी के बालाजी मंदिर में भी भंडारे का समापन कर जुलूस निकाला।

भीमसागर. बाघेर में भण्डारे का समापन हुआ। शोभायात्रा में हाड़ौती का प्रसिद्ध बंदौरी नृत्य भी शामिल रहा। समापन आमझर माता मंदिर पर हुआ। अध्यक्ष पप्पू भील, लालचंद, हंसराज भील आदि मौजूद रहे। यहां बिंदौरी नृत्य भी किया गया।

पनवाड़/दहीखेड़ा. पनवाड़, भगवानपुरा, दहीखेड़ा, बागोद सहित कई गांवों में शोभायात्रा निकाली। शोभायात्रा का महेन्द्र वर्मा, गोपाल बैरवा, गंगाराम बैरवा, भरतराज नागर, रामराज ने स्वागत किया।

उन्हैल. कस्बे से शोभायात्रा निकाली। शंकर लाल मेहरा ने बताया कि रामदेव मन्दिर से शुरू होकर चोमहला रोड पर समापन हुआ। सैकड़ों भक्तजनों ने आरती व भंडारे में शिरकत की।

बैरागढ़. कस्बे में शोभायात्रा निकाली। कैलाशचंद, अन्नपूर्ण गुप्ता, सुमित गुर्जर ने बताया कि भण्डारा भी हुआ। पंचमुखी टेकली में चल रहे भण्डारे के कार्यकर्ताओं ने भी शोभायात्रा निकाली।

असनवार. मेघवाल समाज ने नई आबादी के बाबा रामदेव मंदिर से झांकी निकाली। जगह-जगह संगठनों ने स्वागत किया। महिलाओं व पुरुषों ने जुलूस में नृत्य किया।

पचपहाड़. शोभायात्रा के आगे दो घुड़सवार सतरंगी ध्वज पताका लिए चल रहे थे। वहीं भजनों पर महिलाओं, बच्चों और पुरुषों ने नृत्य किया। शाम को माता मन्दिर प्रांगण में भंडारा होगा।

हेमड़ा. मेघवाल समाज ने पालकी धूमधाम से निकाली। वापस रामदेव मंदिर पहुंचने पर महाआरती की।

Published On:
Sep, 12 2018 03:59 PM IST