ससुर- दामाद ने मिलकर रची थी साजिश फिर सराफा व्यवसायियों से लूट व जानलेवा हमला

By: Shiv Singh

Updated On: 14 Jan 2019, 07:04:08 PM IST

  • वारदात की गुत्थी का सुराग लगाने के लिए पुलिस ने मुखबिर लगाए थे

जांजगीर-चांपा. सक्ती के सराफा व्यवसायियों पर 10 जनवरी की रात जानलेवा हमला कर उससे सोने चांदी के जेवर समेत 30 हजार की हुई लूट की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने लूट की वारदात को अंजाम देने वाले ससुर व दामाद को गिरफ्तार कर लिया है।

लूट की वारदात की गुत्थी का सुराग लगाने के लिए पुलिस ने मुखबिर लगाए थे और मोबाइल कॉल डिटेल का पता लगाया। इधर घायलों से पूछताछ की गई। जिसमें संदिग्धों का पता चला। मोबाइल कॉल डिटेल खंगालने पर पुलिस को पता चला कि घटना समय के दौरान सक्ती निवासी राजेश जागी ने ओडिशा के कुछ लोगों से बातचीत की है।

जिस पर राजेश जोगी से पूछताछ शुरू की गई। उससे पूछताछ के दौरान पता चला कि उसके दामाद का नाम राज जोगी उर्फ छोटू है और उन दोनों ने जानलेवा हमला कर लूट की वारदात को अंजाम दिया है। प्रकरण में आरोपी संबलपुर के खेतराजपुर निवासी राज जोगी उर्फ छोटू जोगी पिता स्व शत्रुधन जोगी 25 एवं राजापारा सक्ती निवासी राजेश जोगी पिता फकीरचंद 40 के विरूद्ध पर्याप्त साक्ष्य पाए जाने पर आरोपियों के खिलाफ धारा 394, 307 के तहत रविवार को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में भेज दिया है। मामले में तीन आरोपी फरार हैं। जिसकी तलाश की जा रही है।


इसलिए दिया लूट की वारदात को अंजाम
लूट एवं जानलेवा हमले के शिकार रोहित सिंह द्वारा सक्ती निवासी राजेश जोगी की लड़की दीपिका जोगी को फोन कर परेशान करता था। दीपिका की शादी संबलपुर निवासी राज जोगी उर्फ छोटू के साथ हुई थी। दीपिका ने रोहित सिंह द्वारा फोन कर अश्लील बातों की सूचना अपने पिता को दी थी। छोटू अपने ससुरराजेश जोगी के साथ मिलकर रोहित को सबक सिखाने के लिए इस तरह की कहानी गढ़ी। मारपीट के लिए पंडों का जुगाड़ किया और 10 जनवरी की रात को तीन पंडों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया।

Read more : Video- ओडीएफ हुआ पर अब तक नहीं मिली शौचालय निर्माण की राशि


ऐसे दिया वारदात को अंजाम
10 जनवरी की रात को छोटू अपने तीन साथियों के साथ मिलकर कार से होते हुए सक्ती पहुंचे और अपने ससुर राजेश जोगी से फोन में बात किया। राजेश ने रोहित सिंह का पिरदा मेला में होना बताया। जिस पर छोटू अपने साथियों के साथ कार में पिरदा मेला गया। जहां राजेश जोगी ने छोटू को रोहित की पहचान कराई।

इसके बाद रोहित के बाजार से निकलने का इंतजार किए। रोहित अपने साथ बाइक चालक पृथ्वी सिंह के साथ बाजार से निकल, तब छोटू आगे निकलकर सुनसान रास्ते में सुनियोजित ढंग से अपने साथी के साथ मिलकर स्टंप एवं डंडे से ताबड़तोड़ हमला कर दिया और रोहित सिंह के बैग को लूटकर भाग निकले। आरोपी राज जोगी उर्फ छोटू के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त लकड़ी के स्टंप, बाजारू मंगलसूत्र तथा पायल एवं नगदी रकम बरामद कर लिया है।

Updated On:
14 Jan 2019, 07:04:07 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।