तालाब के मटमैले पानी से बुझा रहे प्यास

By: Jitesh kumar Rawal

Published On:
Jun, 12 2019 11:38 AM IST

  • www.patrika.com/rajasthan.news

भंवरानी में पेयजल समस्या से परेशान ग्रामीण


आहोर. क्षेत्र के भंवरानी में पिछले लंबे समय से यहां के बाशिंदे मूलभूत सुविधा कही जाने वाली पेयजल व विद्युत की भयंकर समस्या से त्रस्त है। इन दिनों प्रचण्ड गर्मी में जहां ग्रामीण भयंकर पेयजल की समस्या से जूझ रहे है।वहीं बार-बार हो रही विद्युत कटौती तथा कम वॉल्टेज की समस्या से बेहद परेशान है।
गांव में पेयजल संकट की वजह से यहां के बाशिंदे पीने के पानी के लिए पूरी तरह से तालाब में खुदी बेरियों पर निर्भर है। घरों में लगे नलों में कई दिनों से जलापूर्ति नहीं होने के कारण ग्रामीणों को मजबूरन तालाब में खुदी बेरियों से अपनी प्यास बुझानी पड़ रही है। बेरियों में भी पानी का स्तर काफी नीचे चला गया है तथा यह पानी मटमैला है। लेकिन ग्रामीणों को अपनी जान जोखिम में डालकर इस पानी से ही प्यास बुझानी पड़ रही है। ग्रामीण महिलाएं बेरियों पर खड़ी रहकर अपनी जान की परवाह किए बगैर बेरियों से पानी निकालती है। उन्हें एक-एक मटका पानी के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है।


गांव में अपर्याप्त जलापूर्ति
गांव में करीब 15 दिनों के लंबे अन्तराल से घरों में जलापूर्ति हो रही है। वो भी अपर्याप्त व अनियमित। पेयजल संकट की वजह से गांव में पीने के पानी के लिए त्राहि-त्राहि मची हुई है। ग्र्रामीण पीने के पानी के लिए इधर-उधर भटकने तथा महंगे दामों पर टैंकरों से जलापूर्ति करवाने को मजबूर है। लेकिन इस ओर जिम्मेदार जलदाय विभाग की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है।

बार-बार गुल हो रही बिजली
गांव में बिजली संकट भी है।बार-बार विद्युत कटौती होने से इन दिनों प्रचण्ड गर्मी में ग्रामीणों को हाल बेहाल बना हुआ है। गांव में बार-बार बिजली गुल हो जाती है। कई बार घंटों तक बिजली गुल ही रहती है। इसके अलावा गांव में कम वॉल्टेज की भी समस्या बनी हुई है। ग्रामीणों की ओर से पूर्व में कई बार पेयजल व बिजली की समस्या को लेकर विभागीय अधिकारियों को अवगत करवाया गया। लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

Published On:
Jun, 12 2019 11:38 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।