अमित शाह के प्रदेश दौरे से बदली राजस्थान की चुनावी रणनीति, राजस्थान में अब इस चेहरे पर लड़ा जाएगा चुनाव

By: rohit sharma

Published On:
Sep, 12 2018 07:16 PM IST

  • www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर ।

राजस्थान में चुनावी रणभेरी के बीच भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यकर्ताओं के कान में जीत का मंत्र फूंका। राजस्थान में मंगलवार को जयपुर दौरे पर आए अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं में जोड़ भरा और आगामी चुनावों के लिए प्रदेश में चुनावी तैयारी के निर्देश दिए।

अमित शाह ने राजस्थान की चुनावी रणनीति में बदलाव करते हुए अब मोदी के चेहरे पर प्रदेश में विजयी पाने की ठान ली है। सूत्रों के मुताबिक प्रदेश की राजनीति में अब कार्यकर्ता मोदी के नाम पर वोटबैंक मजबुत करेंगे। साथ ही इस बार का राजस्थान, छतीसगढ़ और मध्यप्रदेश BJP के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। राजस्थान में बीजेपी की रणनीति के मुताबिक प्रदेश में चुनाव पूर्ण रूप से केंद्रीय नेतृत्व में होगा। इसका सीधा सा उदाहरण राजस्थान में चल रहे मोदी और शाह के दौरे से ही देखने को मिलता है। फ़िलहाल शाह ने बीजेपी के सभी कार्यकर्ताओं को चुनावी मंत्र देते हुए कहा कि वे सरकार बनाने के लिए तैयारी में पूर्ण रूप से जुट जाएं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को भाजपा सहकारिता सम्मेलन में भाजपा की सरकार बनाने का दावा भी किया। अमित शाह ने कहा कि वे भी की सहकारिता समितियों के अध्यक्ष और निदेशक रहे हैं। गुजरात अकेला ऐसा राज्य है जहां लगभग सभी सहकारिता क्षेत्र पर भाजपा का कब्जा है। यहां पर राजस्थान में भाजपा की फिर से सरकार बनाने की बात करने आया हूं। केंद्र की 2013-14 की यूपीए सरकार ने 100 रुपए कृषि पर खर्च करती थी तो मोदी सरकार ने इसे दो गुना कर दिया। कृषि के लिए राज्य सरकार ने अच्छा काम किया।

 

CM राजे की भी की तारीफ़, सभी क्षेत्रों में बताया शानदार काम

शाह ने वसुंधरा सरकार की भी तारीफ़ करते हुए कहा कि वसुंधरा के सभी क्षेत्रों में शानदार काम हुआ, जो ज्यादा या ऊंचा सोचता है उसका मखौल उड़ाते है। शाह ने कहा कि जब मोदी ने किसान की आय दो गुना करने के लिए कहा तो कांग्रेस नेताओं के आग लग गई और कांव कांव करने लगे। ऋण सस्ता किया, फिर आपदा पर किसानों को मुआवजा बढ़ाया।


राहुल बाबा मुंगेरी लाल के सपने देखना कर दें बंद

वहीं सूरज मैदान में आयोजित कार्यक्रम में शाह ने कांग्रेस पर धावा बोला और कहा कि राजस्थान में भाजपा सरकार अंगद का पांव है, उसे कोई उखाड़ नहीं सकता है। कांग्रेस पार्टी तो इसके बारे में सोचे भी नहीं। इसलिए भाजपा कार्यकर्ताओं को अब दाएं—बाएं देखने की जरूरत नहीं है, बल्कि वर्ष 2019 के चुनाव पर फोकस करते हुए विधानसभा चुनाव जीताने पर ध्यान दें। क्योंकि, राजस्थान समेत तीन राज्यों के चुनाव ही हमारे आगामी 50 साल का भविष्य तय करेंगे। यह किसी मुख्यमंत्री या मंत्री का चुनाव नहीं, कार्यकर्ता, भाजपा का चुनाव है इसलिए प्रचंड बहुमत से जीताने की तैयारी करें। इसी के साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी निशाना साधा और कहा राहुल बाबा मुंगेरी लाल के सपने देखना बंद कर दें।

Published On:
Sep, 12 2018 07:16 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।