हजारों ने नम आंखों से दी 'बाबूजी' को अंतिम विदाई, पूर्व विधायक कल्ला की अंतिम यात्रा में आम और खास हुए शामिल

By: Deepak Vyas

Updated On: 10 Sep 2019, 10:15:59 PM IST

  • पूर्व विधायक गोवर्द्धन कल्ला की पार्थिव देह मंगलवार को पंचतत्व में विलीन हो गई। हजारों लोगों ने उन्हें नम आंखों से विदाई दी। गांधीवादी विचारक कल्ला की अंतिम यात्रा में प्रदेश के केबिनेट मंत्री डॉ. बीडी कल्ला और सालेह मोहम्मद, जैसलमेर विधायक रूपाराम धणदे, जिला प्रमुख अंजना मेघवाल, जिला कलक्टर नमित मेहता और पुलिस अधीक्षक किरण कंग सहित समाज की छत्तीस कौमों के लोग शामिल हुए।

जैसलमेर. पूर्व विधायक गोवर्द्धन कल्ला की पार्थिव देह मंगलवार को पंचतत्व में विलीन हो गई। हजारों लोगों ने उन्हें नम आंखों से विदाई दी। गांधीवादी विचारक कल्ला की अंतिम यात्रा में प्रदेश के केबिनेट मंत्री डॉ. बीडी कल्ला और सालेह मोहम्मद, जैसलमेर विधायक रूपाराम धणदे, जिला प्रमुख अंजना मेघवाल, जिला कलक्टर नमित मेहता और पुलिस अधीक्षक किरण कंग सहित समाज की छत्तीस कौमों के लोग शामिल हुए। उन्होंने परिवारजनों को ढांढस बंधाया और ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शान्ति और दु:ख की इस घड़ी में परिजनों को सम्बल प्रदान करने की प्रार्थना की। मंत्रियों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और अपनी तरफ से कल्ला की पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित किए। गौरतलब है कि जैसलमेर भर में 'बाबूजी' के नाम से पहचान रखने वाले गोवद्र्धन कल्ला का सोमवार रात्रि में निधन हो गया था। मंगलवार दोपहर केला पाड़ा स्थित उनके आवास से शवयात्रा निकाली गई। व्यास छत्तरी श्मशान भूमि पर उनकी अंत्येष्टि की गई।
यह भी रहे अंतिम यात्रा में शामिल
पूर्व विधायक कल्ला की अंतिम यात्रा में कांग्रेस और भाजपा दोनों के तमाम नेता और कार्यकर्ताओं के साथ सामाजिक क्षेत्रों के अन्य लोग शामिल हुए। पूर्व विधायक छोटूसिंह भाटी और मुल्तानाराम बारूपाल, पूर्व जिला प्रमुख अब्दुल्ला फकीर, जिला कांग्रेस अध्यक्ष गोङ्क्षवद भार्गव, प्रधान अमरदीन फकीर, उषा भाटी, पूर्व सभापति अशोक तंवर, पूर्व यूआईटी अध्यक्ष उम्मेदसिंह तंवर, सुनीता भाटी, सुमार खां, छोटू खां कंधारी, कई पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए। कांग्रेस की तरफ से उनके शव पर पार्टी का झंडा चढ़ाया गया। अंतिम यात्रा रवाना होने से ठीक पहले लोगों ने गोवद्र्धन कल्ला अमर रहे, जब तक सूरज चांद रहेगा बाबूजी का नाम रहेगा, जैसे नारे लगाए।
मुख्यमंत्री और मंत्रियों ने दु:ख प्रकट किया
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने शोक संदेश में . कल्ला को एक गरिमामय प्रतिभाशाली व्यक्तित्व, आदर्श गांधीवादी, कुशल राजनीतिज्ञ एवं सच्चा प्रखर जननेता के अकस्मात खो जाने से अपूरणीय क्षति बताया। ऊर्जा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने कहा कल्ला एक सच्चे जनसेवक थे। उन्होंने जीवन पर्यन्त आमजन के हितों के लिये कार्य किया। सार्वजनिक जीवन में उनका योगदान सदैव अविस्मरणीय रहेगा। अल्पसंख्यक मामलात मंत्री सालेह मोहम्मद ने कहा कि कल्ला बुनकरों के मसीहा थे एवं खादी और गांधी उनका जीवन दर्शन था। जैसलमेर विधायक रूपाराम धणदै ने कहा कि उनका गांधी दर्शन सदैव याद रहेगा। इसी तरह से राजस्थान समग्र सेवा संघ जयपुर के अध्यक्ष सर्वोदयी नेता सवाई सिंह ने कहा कि वे कर्मठ गांधीवादी सेवक थे, जिन्होने गांधी विचार को जिले में जन-जन तक पहुचाने का कार्य किया। कल्ला के निधन पर जैसलमेर जिला खादी ग्रामोदय परिषद में नियमित सर्वधर्म प्रार्थना सभा में उपाध्यक्ष मदनलाल भूतड़ा व मंत्री राजूराम प्रजापत ने उनके व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वे एक वटवृक्ष की तरह थे। जिनकी छांव सर्वसुलभ थी। सभा में दो मिनट मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई।

Updated On:
10 Sep 2019, 10:15:58 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।