Student union election 2019: चुनाव में धांधली का आरोप,एसडीएम से जांच की मांग

By: Deepak Vyas

Updated On:
25 Aug 2019, 05:58:12 PM IST

  • पोकरण. छात्रसंघ चुनाव 2019 के अंतर्गत स्थानीय राजकीय कन्या महाविद्यालय में गत दो दिनों से चल रहा एक पक्ष का विरोध लगातार तीसरे दिन भी जारी रहा। प्रत्याशियों व समर्थकों ने शनिवार को उपखण्ड अधिकारी को एक ज्ञापन देकर चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए जांच की मांग की है।

जैसलमेर/पोकरण. छात्रसंघ चुनाव 2019 के अंतर्गत स्थानीय राजकीय कन्या महाविद्यालय में गत दो दिनों से चल रहा एक पक्ष का विरोध लगातार तीसरे दिन भी जारी रहा। प्रत्याशियों व समर्थकों ने शनिवार को उपखण्ड अधिकारी को एक ज्ञापन देकर चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए जांच की मांग की है। निर्दलीय प्रत्याशी की समर्थक छात्राओं ने उपखण्ड अधिकारी आकांक्षा बैरवा से मुलाकात कर एक ज्ञापन सुपुर्द किया। उन्होंने बताया कि कन्या महाविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव के दौरान धांधली की गई है। उन्होंने बताया कि एक प्रत्याशी को निर्विरोध जीताने के लिए उसका नामांकन पत्र अधूरा होने के बावजूद महाविद्यालय समय के बाद उसे बुलाकर पूरा किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रत्याशी के नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर कॉलेज चुनाव कमेटी के सदस्य सत्यापन नहीं कर सकते, लेकिन व्याख्याता गुरमुखसिंह ने प्रत्याशी के हस्ताक्षर सत्यापन किए है, जो चुनाव नियमों के विरुद्ध है। इसी प्रकार प्रत्याशी के अनुमोदक व प्रस्तावक भी जानकारी भी जांच नहीं की गई। एक छात्रा को पूर्व में ही टीसी दी जा चुकी है। फिर भी उसका मतदाता क्रमांक जारी हो चुका है। उन्होंने बताया कि उनकी ओर से विरोध भी किया गया, लेकिन विरोध को नकारते हुए एक पक्ष को निर्विरोध निर्वाचित कर दिया गया। उन्होंने बताया कि व्याख्याता गुरमुखसिंह रात्रि में भी कन्या महाविद्यालय में ही विश्राम करता है। उन्होंने इस मामले की जांच करने, टीसी बुक व रिकॉर्ड को सीज कर जांच कर कार्रवाई करने की मांग की है।

Updated On:
25 Aug 2019, 05:58:12 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।