Jaisalmer news Bulletin on 10 July 2019:न्यूजीलैण्ड-भारत क्रिकेट मैच पर लाखों के सट्टे का भंडाफोड़,देखें दिनभर की ख़बरें

By: Deepak Vyas

Published On:
Jul, 10 2019 09:23 PM IST

 
  • Jaisalmer news Bulletin on 10 July 2019:न्यूजीलैण्ड-भारत क्रिकेट मैच पर लाखों के सट्टे का भंडाफोड़,देखें दिनभर की ख़बरें

jaisalmer news Bulletin on 10 July 2019: पोकरण पुलिस ने मंगलवार रात कार्रवाई करते हुए विश्व कप के सेमीफाइनल में भारत-न्यूजीलैण्ड मैच में सट्टे के कारोबार का भण्डाफोड़ किया। आरोपी मौके से फरार हो गए। उधर, पुुलिस ने नामजद मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश शुरू की। पुलिस उपाधीक्षक मोटाराम चौधरी ने बुधवार को सुबह पुलिस थाने में पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि मंगलवार को भारत-न्यूजीलैण्ड का सेमीफाइनल मैच था। इस दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि गांधी चौक के पास मोचियों की गली में स्थित एक मकान में मैच पर सट्टा लगाया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार एक टीम का गठन कर गांधी चौक के पास मोचियों की गली में स्थित एक मकान में दबिश दी गई। इस दौरान यहां सट्टे का कारोबार करते अपने इलेक्ट्रोनिक ताम-जाम के साथ कुछ युवक बैठे सट्टा कर रहे थे। मकान में दबिश देते हुए यहां बैठे आरोपी सटोरिये खिडक़ी से भाग गए। पुलिस ने दबिश के दौरान एक मोबाइल फोन रुम रिकॉर्डिंग सिस्टम, उसमें लगे 13 की-पेड मोबाइल, 2 एंड्रोइड मोबाइल, 4 की-पेड मोबाइल, 2 एचपी कंपनी के लेपटोप मय चार्जर, चार मोबाइल चार्जर, दो केलक्युलेटर, हिसाब लिखने के तीन रजिस्टर बरामद हुए।
रजिस्टरोंं में मिला लाखों का हिसाब-किताब
पुलिस उपाधीक्षक चौधरी ने बताया कि सटोरियों के कमरे से तीन रजिस्टर बरामद हुए, जिसमें लाखों का हिसाब किताब मिला। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान दो से ८ जुलाई तक के वल्र्डकप मैचोंं व मंगलवार को चल रहे सेमीफाइनल मैच को लेकर एक रजिस्टर में एक लाख 64 हजार, दूसरे रजिस्टर में तीन लाख 67 हजार रुपए का हिसाब किताब मिला। जबकि तीसरे रजिस्टर में कांट-छांट पाई गई। जिसकी जांच की जा रही है। पुलिस ने बंद मकान में जुआ खेलना, इलेक्ट्रोनिक उपकरणों का दुरुपयोग कर सट्टा लगाने के आरोप में स्थानीय निवासी मुकेश उर्फ रिंकू पुत्र नारायणलाल व्यास व तीन-चार अन्य के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच थानाधिकारी सुखराम विश्रोई कर रहे है।

ये रहे टीम में शामिल
पुलिस उपाधीक्षक चौधरी ने बताया कि जिला पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार थानाधिकारी सुखराम विश्रोई के निर्देशन में गठित उपनिरीक्षक दलपतसिंह चौधरी, सहायक उपनिरीक्षक मगाराम, मुख्य आरक्षक नारायणसिंह, कांस्टेबल सोहनराम, अमरेन्द्रसिंह, रमेशकुमार की विशेष टीम की ओर से कार्रवाई की गई।

तकनीक देख हैरान हुई पुलिस
एक लकड़ी का इलेक्ट्रोनिक बक्शा, जिसमें 13 मोबाइल फोन आपस में जोड़े हुए। इन मोबाइलों पर मात्र इनकमिंग की सुविधा। आउटगोइंग के लिए अलग से दो एंड्रोइड व चार की-पेड मोबाइल। 13 मोबाइलों पर आने वाले फोन की आवाज सुनने के लिए एक स्पीकर। इन मोबाइलों के माध्यम से देश-विदेश में बैठे बड़े सटोरियों से संपर्क साधना और मैच की बुकी करने का खेल न जाने कितने दिनों से चल रहा था। इस एडवांस टेक्नोलोजी को देख स्वयं पुलिस अधिकारी भी हैरान हो गए और उन्होंने पहली बार ऐसी टेक्नोलोजी देखने को बात कही।

Published On:
Jul, 10 2019 09:23 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।