केन्द्र सरकार गांवों को बनाएगी सम्पूर्ण स्वच्छ

By: Suresh Yadav

Updated On:
10 Sep 2019, 11:59:24 PM IST

  • Jaipur news : अब गांवों को 10 साल में बनाएंगे सम्पूर्ण स्वच्छ
    पेयजल स्वच्छता विभाग के साथ केपीएमजी और यूनिसेफ ने तैयार की रणनीति

जयपुर।

केन्द्र सरकार (The central government) की ओर से यह दावा किया जा रहा है कि देश में स्वच्छता कवरेज 99.99 प्रतिशत तक पहुंच गया है। इसी के साथ स्वच्छ भारत मिशन का लक्ष्य हासिल हो चुका है। अब सरकार ने आगामी कदम उठाते हुए ग्रामीण क्षेत्रों के लिए सम्पूर्ण स्वच्छता का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसी संदर्भ में पेयजल और स्वच्छता विभाग ने केपीएमजी और यूनिसेफ के साथ मिलकर यह रणनीति तैयार की है।
दस साल तक चलने वाली इस योजना के पांच बड़े स्तंभ होंगे । जिसमें खुले में शौच मुक्त स्थिति, प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन, जैविक अपशिष्ट प्रबंधन, इस्तेमाल हो चुके पानी का प्रबंधन.मल कीचड़ प्रबंधन आदि शामिल होंगे। जल शक्ति मंत्रालय के पेयजल और स्वच्छता विभाग के संयुक्त सचिव अरुण बरोका के अनुसार भारत 2019 के अंत तक सम्पूर्ण स्वच्छता का लक्ष्य हासिल कर लेगा।
दूसरी ओर ओडीएफ बनाए रखने के लिए,शौचालयों में पर्याप्त पानी पहुंचाया जाएगा। शौचालय के गड्ढे खाली करने की प्रक्रियाओं का मानकीकरण होगा। घरेलू स्तर पर जैविक कचरे की खाद को बढ़ावा भी दिया जाएगा और ग्राम पंचायत को इसकी देखरेख के लिए जिम्मेदार बनाया जाएगा। इसके साथ ही गांव और घरों के स्तरों पर ग्रे वाटर मैनेजमेंट किया जाएगा।
वहीं दूसरी ओर सिंगल यूज प्लास्टिक के प्रबंधन पर जोर दिया जा रहा है। इसी क्रम में 11 सितंबर को, प्रधानमंत्री मथुरा से प्लास्टिक कचरे के लिए श्रमदान का एक स्पष्ट आह्वान करेंगे। पेयजल और स्वच्छता विभाग के सचिव, परमेस्वरन अय्यर ने बताया कि अब शौचालय प्रौद्योगिकियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। अय्यर ने कहा कि जो शौचालय बनने से रह गए हैं, उनके लिए धन का आंवटन जारी रखा जाएगा और इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि गैर-ओडीएफ से लेकर ओडीएफ राज्य तक कोई न बचे।

Updated On:
10 Sep 2019, 11:59:24 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।