मरीजों का बढ़ता भार, अस्पताल प्रशासन लाचार

By: Anil Chauchan

Updated On:
24 Aug 2019, 04:33:35 PM IST

  • Sawai Mansingh Hospital: Increasing burden of patients प्रदेश के सबसे बड़े Sawai Mansingh Hospital की व्यवस्थाओं में सुधार को लेकर अब तक उठाए गए कदम ना काफी साबित हो रहे हैं। जब भी कोई Government आती है तो Hospital की व्यवस्थाओं में सुधार को लेकर कई तरह की बातें की जाती है लेकिन देखा यही जाता है कि कुछ दिन बाद ही व्यवस्थाओं की पोल खुल जाती है। हाल ही Health Minister के दौरे में भी यही बात सामने आई। Minister ने कमेटी बनाकर व्यवस्थाएं सुधारने की बात कही। कब Committee बनेगी और कब सुधार होगा यह कहना मुश्किल है।

जयपुर .
प्रदेश के सबसे बड़े सवाई मानसिंह अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार को लेकर अब तक उठाए गए कदम ना काफी साबित हो रहे हैं। जब भी कोई सरकार आती है तो अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार को लेकर कई तरह की बातें की जाती है लेकिन देखा यही जाता है कि कुछ दिन बाद ही व्यवस्थाओं की पोल खुल जाती है। हाल ही चिकित्सा मंत्री के दौरे में भी यही बात सामने आई। मंत्री ने कमेटी बनाकर व्यवस्थाएं सुधारने की बात कही। कब कमेटी बनेगी और कब सुधार होगा यह कहना मुश्किल है। अस्पताल में पिछले दो माह में विभिन्न वार्डों और ऑपरेशन थियेटरों में प्लास्टर गिरने की पांच घटनाएं हुई। इसके अलावा दो बार आग लगने की घटनाएं हुई। बार-बार शिकायतें होने पर प्रशासन गंभीर हुआ और स्वास्थ्य मंत्री को एसएमएस अस्पताल का दौरा करना पड़ा।

एसएमएस अस्पताल
- दो माह में पांच बार हुई प्लास्टर गिरने की घटनाएं
- अस्पताल के वार्डों में दीवारों पर आ रही है सीलन
- मंत्री ने किया अस्पताल का निरीक्षण, दिए निर्देश
- अब कमेटी बनाकर किया जाएगा सुधार का कार्य
- मरीजों के बढ़ते भार पर अस्पताल नहीं है गंभीर

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने सवाई मानसिंह अस्पताल का सघन दौरा कर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने अस्पताल में पाई गई कमियों को शीघ्र दूर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि चिकित्सा शिक्षा सचिव के नेतृत्व में कमेटी बनाई जाए जो अस्पताल में पाई गई खामियों को दूर करे। कमेटी अस्पताल के सभी विभागों से फीडबैक लेकर बजट के प्रावधानों के अनुसार समस्याओं का निस्तारण करेगी। चिकित्सा मंत्री ने अस्पताल पहुंचकर अधीक्षक डॉ.डी.एस.मीणा से चिकित्सालय के पुनर्विकास, भीड़ नियत्रंण, पार्र्किंग शौचालयों की नियमित साफ.-सफाई, डीडीसी, रजिस्ट्रेशन काउंटर, बिलिंग काउंटर, बिजली के अतिरिक्त भार, नियमित मरम्मत फंड, आपदा फंड, पुलिस चौकी स्थापना, वेस्ट मैनेजमेंट, बारिश के दौरान पानी की निकासी सहित कई विषयों पर विस्तार से चर्चा की।
शर्मा ने अधिकारियों के साथ पंजीयन एवं प्रतीक्षालय, कचरा डिपो बायोमेडिकल वेस्ट क्षेत्र, धन्वंतरी ऑपरेशन थियेटर विंग, प्लास्टिक सर्जरी एवं भूमिगत पार्किंग, कॉटेज वाड्र्स, महावीर विकलांग समिति, मुख्य भवन, द्धितीय तल 3जी वार्ड व अन्य वार्डों का दौरा किया और दिशा निर्देश दिए थे। अब देखाना यह है कि कब कमेटी बनती है और कब अस्पताल के भवन पर मरहम लगने का काम शुरू होता है।

Updated On:
24 Aug 2019, 04:33:35 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।