भाषण नहीं धरातल पर सुरक्षा की दरकार

By: Tasneem Khan

Updated On: Jul, 11 2019 07:04 PM IST

 
  • भाषण नहीं धरातल पर सुरक्षा की दरकार

तसनीम खान, जयपुर। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में बजट पेश करते हुए महिलाओं को लेकर अच्छा भाषण दिया। जिस पर टेबलें भी थपथपाई गई। लेकिन यहां वो महिला सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर करना और उस सुरक्षा पर योजनाओं के लिए बजट अनुमोदन भूल गई। राजधानी दिल्ली में एक और जहां यह बजट पेश हो रहा था और महिला सशक्तीकरण पर गर्व से टेबलें थपथपाई जा रही थी, ठीक उसी समय राजधानी के सफदरगंज अस्पताल में एक छह साल की बच्ची इस महिला सुरक्षा की हकीकत के दर्द से कराह रही थी। अपने साथ हुए बलात्कार के बाद जिंदगी और मौत से लड़ रही थी, जिसके कई आॅपरेशन करने के बाद भी डॉक्टर को अब उसके बचने की उम्मीद कम है। यह उस महिला सुरक्षा की हकीकत है, जो संसद में सरकार की शाबाशी बटोर रही थी। आपको बता दें कि दो जुलाई मंगलवार को दिल्ली के द्वारका सेक्टर 23 में एक 6 साल की मासूम बच्ची सड़क के किनारे झाड़ियों में बेसुध हालत में मिली। उसे गंभीर हालत में सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया। शुक्रवार को जब दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल उससे हालत जानने के लिए पहुंची तो डॉक्टरों ने बताया कि बच्ची की हालत काफी नाजुक है। शरीर के निचले हिस्से की कई नसें फट चुकी हैं, कई जगहों पर टांके आए हैंं बच्ची के पेट पर दांतों से काटे जाने के गहरे जख्म भी हैं। उसके बचने की उम्मीद कम है। हालांकि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 24 साल के आरोपी को पुलिस ने शुक्रवार सुबह गिरफ्तार कर लिया है।

Published On:
Jul, 11 2019 07:00 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।