अब बीच सत्र में कॉलेज में नहीं होंगे दाखिले

By: Jyoti Patel

Published On:
Sep, 12 2018 08:04 AM IST

  • https://www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर. शिक्षक प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में अब निजी कॉलेजों की मनमानी नहीं चलेगी। अब निजी कॉलेज में बीच सत्र में प्रवेश भी नहीं हो होंगे। तय तिथि के बाद कोई भी कॉलेज प्रवेश नहीं कर सकेगा। आए दिन कॉलेज शिक्षा विभाग को शिकायत मिलती थी कि कई कॉलेजों ने बीच सत्र में प्रवेश दिया है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब कॉलेजों को प्रवेशित विद्यार्थियों की संख्या और पाठ्यक्रमों का नाम 15 सितम्बर तक विभाग को देना होगा। प्रदेश के सभी राजकीय और निजी विश्वविद्यालयों में संचालित शिक्षक-प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में प्रवेशित विद्यार्थियों की सूचना कॉलेज शिक्षा विभाग ने मांगी है।विश्वविद्यालयों के कुल सचिव से सत्र २०१८-19 के लिए प्रवेशित विद्यार्थियों की सूचना मांगी गई है ।

कॉलेज शिक्षा विभाग का इस बड़े कदम उठाने के बारे में मानना है कि इससे फर्जीवाड़े पर रोक लगेगी और समय पर ही प्रवेश हो सकेंगे। सभी शिक्षक-प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में राज्य की नोडल एजेंसी के माध्यम से या फिर विश्वविद्यालय के स्वयं के स्तर पर ही सीधे प्रवेश दिए गए विद्यार्थियों की संख्या मांगी गई है। साथ ही एनसीटीई से स्वीकृत सीटों की संख्या और रिक्त सीट की संख्या की सूचना भी 25 सितम्बर तक विभाग ने मांगी है। सूचना में विश्वविद्यालय का नाम व पता, फोन नंबर व ई-मेल आईडी, एनसीटीई से मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रम का नाम, एनसीटीई के आदेश क्रमांक व दिनांक, स्वीकृत सीट, नोडल एजेंसी के माध्यम से हुए प्रवेशित विद्यार्थियों की संख्या, विश्वविद्यालय द्वारा स्वयं के स्तर पर प्रवेशित विद्यार्थियों की संख्या, कुल प्रवेशित विद्यार्थियों की संख्या, काउंसलिंग में शामिल होने के लिए विभाग द्वारा जारी आदेश की प्रति भी मांगी गई है।

Read more : राजस्थान की इस प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी में रात 2 बजे तक हुई री-काउंटिंग, आया चौंकाने वाला नतीजा, सवा दो बजे दिलाई शपथ

Read more : छात्रसंघ चुनाव RESULTS 2018 : राजस्थान छात्रसंघ चुनावों में कहां कौन जीता? यहां देखें किसका रहा पलड़ा भारी

Published On:
Sep, 12 2018 08:04 AM IST