पांच सौ पुलिस जवान भी नहीं रोक पाए 'यमदूतों' को

By: Ankita Sharma

Updated On: 25 Aug 2019, 02:18:37 PM IST

 
  • — अतिक्रमण हटाने गए क्रेन चालक को पीट—पीट कर मार डाला

— नागौर में आज सुबह अतिक्रमण हटाने गए अधिकारियों पर पत्थरों की बरसात

 

 


नागौर में आज सुबह अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई मानो युदृध में बदल गई। पुलिस को पहले से ही हंगामे की आशंका थी और यही कारण था कि मौके पर चार सौ से पांच सौ के बीच पुलिसकर्मियों का जाप्त तैनात था। फिर भी पुलिस भीड़ को काबू न कर सकी और आखिरकार पुलिस की इस विफलता की सजा मिली मौके पर मौजूद क्रेन चालक को। लोगों ने इस क्रेन चालक को इतना पीटा की मौत हो गई। दरअसल, नौगार के बंजारो की ढाणियों में अतिक्रमण हटाने के दौरान क्रेन चालक फारूख पर अतिक्रमियों ने हमला कर दिया। हमले में गंभीर घायल फारूख ने उपचार के दौरान दम तौड़ दिया। मौत के बावजूद पुलिस व प्रशासन के अधिकारी शव को जोधपुर भेजने लगे, जिससे परिजनों ने रोष जताते हुए शव मोर्चरी में रखवाया तथा अस्पताल के सामने नेशनल हाईवे 89 पर जाम लगा दिया। पुलिस अधीक्षक डॉ विकास पाठक सहित अन्य अधिकारियों ने समझाइश का प्रयास किया, लेकिन परिजनों का सवाल था कि सैकड़ों पुलिसकर्मी मौके पर तैनात होने के बावजूद इतनी बड़ी लापरवाही कैसे हुई। इससे पहले ताऊसर गांव की बंजारों की ढाणियों में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान यहां डेरा जमाए लोगों ने पुलिस व प्रशासन पर पत्थरबाजी भी की थी। इस पत्थरबाजी की घटना के दौरान एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसे नागौर के जेल अस्पताल भेजा गया है। वहीं बंजारा समाज के लोग काफी देर तक पुलिस पत्थरबाजी करते रहे। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कई लोग घायल भी हुए। हंगामे की आशंका को देखते हुए ही मौके पर सुबह साढ़े पांच बजे से ही भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। मौके पर चार सौ से पांच सौ तक पुलिस जवान लगाए गए थे। वहीं मौके पर पहुंचे भोपालगढ़़ के विधायक पुखराज गर्ग और मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी ने प्रशासन की कार्रवाई को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि प्रशासन को इनके पुनर्वास की व्यवस्था करनी चाहिए। साथ ही उन्हें मुआवजा भी देना चाहिए।

Updated On:
25 Aug 2019, 02:18:36 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।