दुधारु पशुओं के अनुवांशिक उन्नयन के लिए जिले के सौ गांवों में चलेगा कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम

By: Devendra Singh

Updated On: 10 Sep 2019, 09:54:52 PM IST

  • milk given animals : पीएम नरेन्द्र मोदी बुधवार यानि 11 सितम्बर को मथुरा में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। इसी दिन पीएम देश के सभी 687 जिलों के कृषि विज्ञान केंद्रों में कार्यशाला का भी शुभारंभ करेंगे।

दुधारु पशुओं के अनुवांशिक उन्नयन के लिए जिले के सौ गांवों में चलेगा कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम

डूंगरपुर। पीएम नरेन्द्र मोदी बुधवार यानि 11 सितम्बर को मथुरा में पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। इसी दिन पीएम देश के सभी 687 जिलों के कृषि विज्ञान केंद्रों ( Agricultural science centers ) में कार्यशाला का भी शुभारंभ करेंगे। इसी कड़ी में डूंगरपुर के बादल महल स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र में भी कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। इसमें पशुपालकों को अभियान की जानकारी दी जाएगी। कार्यशाला की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। अभियान में जिले के सौ गांवों में दो सौ देशी नस्ल के दुधारु पशुओं ( Milk animals ) के अनुवांशिक उन्नयन के लिए निशुल्क गर्भाधान कार्यक्रम चलाया जाएगा।

टीकाकरण कार्यक्रम का करेंगे शुभारंभ

पीएम मोदी मथुरा में खुरपका व मुंहपका की बीमारी तथा ब्रुसेलोसिस के लिए राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। इस अवसर पर पीएम मोदी राष्ट्रीय हिमकृत वीर्य से कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम( Artificial insemination program ) को भी लांच करेंगे। इसके बाद मोदी पशु विज्ञान एवं आरोग्य मेले में भी शामिल होंगे तथा बाबूगढ़ सेक्स सीमेन सुविधा और देश के सभी 687 जिलों के कृषि विज्ञान केंद्रों में कार्यशाला का शुभारंभ करेंगे। कार्यशाला का विषय है— टीकाकरण और रोग नियंत्रण, कृत्रिम गर्भाधान एवं उत्पादकता। गौरतलब है राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम की मद में केन्द्र सरकार ने 2019 से 2024 के लिए 12,652 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। इसका उद्देश्य टीकाकरण ( Vaccination ) के माध्यम से खुरपका और मुंहपका रोग तथा ब्रुसेलोसिस को 2025 तक नियंत्रित करना तथा 2030 तक पूरी तरह समाप्त करना है।


- अनुवांशिक सुधार के लिए जिले के 100 गांवों का चयन किया गया है। अभियान दो चरणों में 15 मार्च तक चलेगा। इसमें 200 मादा पशुओं का निशुल्क सकारात्मक गर्भाधान करवाया जाएगा। मादा पशु के गर्भाधान पर सरकार की ओर से
जसंवत सिंह अहाडा
संयुक्त निदेशक, पशुपालन विभाग, डूंगरपुर

Updated On:
10 Sep 2019, 09:46:22 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।