घर के काम में हाथ नहीं बंटाते ‘वो’

By: Shalini Agarwal

Updated On: 11 Sep 2019, 10:12:06 AM IST

  • एक शोध के मुताबिक, पुरुषों का दावा वो बंटाते हैं घर के कामों में बराबर का हाथ, महिलाओं ने नकारा। उनकी शिकायत, उन्हें करना पड़ता है ज्यादा काम

जब भी यह बात आती है कि घर का काम कौन ज्यादा करता है तो महिलाएं और पुरुष, दोनों क्रेडिट लेने में आगे आ जाते हैं। जहां पुरुषों का दावा होता है कि वे घर के कामों में भरपूर सहयोग करते हैं, वहीं महिलाओं का कहना है कि घर का ज्यादातर काम तो उन्हें ही करना पड़ता है, भले ही दफ्तर के काम का दबाव उन पर कितना ही ज्यादा क्यों न हो? हाल में पेरेंटिंग साइट नेटमम्स की ओर से कराए गए एक सर्वे में यह बात सामने आई है। सर्वे में भाग लेने वालों में अधिकतर का यह मानना है कि घर के कामों और बच्चों के लालन-पालन में माता-पिता को बराबर की हिस्सेदारी निभानी चाहिए लेकिन केवल 20 फीसदी महिलाओं का ही यह मानना था कि ऐसा वाकई धरातल पर हो पाता है, वहीं 40 फीसदी पुरुषों का यह दावा था कि वे घर और बच्चों के काम में बराबर का हिस्सा बंटाते हैं। सर्वे में भाग लेने वाली एक तिहाई महिलाओं का यह भी कहना था कि घर और बच्चों के काम में बराबर की हिस्सेदारी दांपत्य जीवन में खुशहाली में एक बड़ी भूमिका निभाती है। नेटमम्स ने सर्वे के लिए 2000 पेरेंट्स से बात की। सर्वे में भाग लेने वाली 74 फीसदी महिलाओं का कहना था कि घर और बच्चों का ज्यादातर काम उन्हें ही निपटाना पड़ता है, चाहे उनके काम के घंटे कुछ भी हों। नेटमम्स की मुख्य संपादक एनी ओ लिएरी के मुताबिक, आंकड़े सब कुछ कह रहे हैं। ज्यादातर महिलाओं को पुरुषों का सहयोग कभी कभार ही मिल पाता है। उन पर घर और बाहर के काम की दोहरी जिम्मेदारी होती है। फिर सदियों से यही चला आ रहा है कि घर के कामों की जिम्मेदारी हमेशा महिलाओं के कंधे पर लाद दी गई है। हालांकि यह सही है कि आज के पिता पहले की तुलना में ज्यादा काम कर रहे हैं लेकिन वह अब भी बहुत कम है। हमें इस दिशा में अभी बहुत आगे बढऩा है। इसका एक समाधान यह भी हो सकता है कि मांओं के कामकाजी होने पर नियोक्ता शेयर्ड पेरेंटल छुट्टियां प्रदान करे, ताकि माता-पिता साथ-साथ इस जिम्मेदारी को निभा सकें। हालांकि सर्वे में सबसे अच्छी बात यह भी उभर कर आई है कि 67 फीसदी पुरुष और 68 फीसदी महिलाएं इस बात पर पूरी तरह से राजी थे कि घर और बच्चों का काम बगैर किसी भेद के आपस में बांटा जाना चाहिए।

Updated On:
11 Sep 2019, 10:12:05 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।