गजानन को लगेगी मेहंदी, सिंजारा महोत्सव आज

Mridula Sharma

Publish: Sep, 12 2018 11:34:28 AM (IST)

गुरुवार को मनाया जाएगा गणेश चतुर्थी महोत्सव, तीन दिवसीय धार्मिक आयोजन शुरू

जयपुर. भगवान गणेश के जन्मोत्सव (गणेश चतुर्थी) के तहत कई मंदिरों में तीन दिवसीय धार्मिक आयोजनों की शुरुआत हो चुकी है और बुधवार को सिंजारा महोत्सव के तहत गणपति को मेंहदी अर्पित की जाएगी व मोदकों का भोग लगाया जाएगा। वहीं, गत एक वर्ष के दौरान जन्मे बालकों के पहले सिंजारे पर ननिहाल व बुआ के घर से गुड़-धानी, कपड़े व डंके आएंगे। छोटे बच्चों का सिंजारा मनाया जाएगा।
मोतीडूंगरी स्थित मंदिर में महंत कैलाश शर्मा के सानिध्य में पहले दिन सुगम संगीत का कार्यक्रम हुआ। इसमें डॉ.पूजा, डॉ. गोपाल सिंह और नालंदा कला केन्द्र के कलाकारों ने भजनों की प्रस्तुति दी। वहीं श्वेत सिद्धि विनायक मंदिर (सूरजपोल) में रोगों के नाश के लिए भगवान को दूर्वा अर्पित की गई। बंगाली बाबा गणेश मंदिर (दिल्ली रोड) में ध्वजारोहण हुआ।

 

महोत्सव आज से
जयलाल मुंशी का रास्ता (चांदपोल बाजार) स्थित पूर्णानंद गणेश मंदिर में बुधवार से गणेश महोत्सव की शुरुआत होगी। पुजारी राजेश पालीवाल ने बताया कि पहले दिन सिंजारा महोत्सव व रात में भजन संध्या होगी। वहीं, गुरुवार को भगवान गणेश का जन्मोत्सव व विशेष झांकी सजाई जाएगी।

आज होगा विशेष शृंगार
मोती डूंगरी मंदिर में बुधवार शाम सात बजे भगवान का विशेष शृंगार होगा। उन्हें स्वर्ण मुकुट धारण करा चांदी के सिंहासन पर विराजमान कराया जाएगा व सिंजारे की मेहंदी लगाई जाएगी। वहीं, नहर के गणेश मंदिर में शाम को मोदकों की झांकी के साथ ही भगवान को विशेष रूप से तैयार की गई लहरिए की पोशाक और साफा पहनाया जाएगा। महंत जय शर्मा ने बताया कि विशेष शृंगार के कारण मंगलवार को यहां पट बंद रहे। परकोटे वाले गणेश मंदिर (चांदपोल) में बुधवार को मोदकों की झांकी सजाई जाएगी।

परकोटे के दरवाजों पर भी होगा गणेश पूजन
गणेश पूजन समिति द्वारा चारदीवारी के सभी गेटों पर स्थित भगवान गणेश की पूजा की जाएगी। कार्यक्रम में विभिन्न समाजों व समितियों के साथ ही स्थानीय लोग शामिल होंगे।

More Videos

Web Title "Lord ganesh's birthday celebration biggins"

Rajasthan Patrika Live TV