सूरत के आठ किन्नरों ने कर दिया बड़ा शर्मनाक कांड़, राजस्थान तक दहशत फैली

By: Jayant Sharma

Updated On: 11 Sep 2019, 12:08:30 PM IST

  • सूरत के आठ किन्नरों ने कर दिया बड़ा शर्मनाक कांड़, राजस्थान तक दहशत फैली

जयपुर
Kinnar came to sing congratulations, killed the father of child बच्चे के जन्म की बधाई देने आए किन्नरों को जब मुंह मांगा रुपया नहीं मिला तो किन्नर बिफर गए। जिस बेटे के जन्म की बधाई देने किन्नर आए थे उसके पिता की ही हत्या किन्नर कर गए। आठ किन्नरों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। कुछ को हिरासत में भी लिया गया है। पीडित परिवार राजस्थान के चित्तौडगढ़ की है। हत्याकांड गुजरात के सूरत शहर मे हुआ है। किन्नरों के इस कांड के बारे में चितौडगढ़ में जिसने भी सुना वह डर के मारे दहल गया।


बेटा जन्मा तो बधाई गाने आए थे किन्नर
चित्तौडगढ़ के कपासन इलाके में रहने वाले और गुजरात के सूरत में पान की दुकान करने वाले गेहरीलाल लंबे इंतजार के बाद पिता बना था पिछले महीने की 31 तारीख को। किन्नरों को इसका पता चला तो किन्नरों ने बधाई गान शुरू कर दिया गेहरीलाल के घर आकर। परिवार खुश था और आसपास के लोग भी वहां जमा थे। इस बीच किन्नरों ने बधाई गान के बाद 21 हजार रुपए कैश और सोने की अंगूठी की मांग की। लेकिन पान की दुकान करने वाला गेहरी लाल इतने रुपए नहीं दे सका। उसने कहा कि वह पांच हजार रुपए अभी दे देता है और बाद कि सात हजार रुपए कुछ दिन में आकर दे देगा। लेकिन किन्नरों को यह नागवार गुजरा। उन्होनें पांच हजार रुपए गेहरी लाल के मुंह पर फेंके और उसके बाद उसका सिर दीवार से दे मारा। सिर की नसें फट गई और तुरंत गेहरी लाल को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां कुछ दिन भर्ती रहने के बाद गेहरी लाल की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि कपासन में गेहरी लाल का परिवार रहता था और वह अपनी पत्नी के साथ सूरत की मानसरोवर सोसायटी में किराये से रहता था। सूरत की लिंबायत थाना पुलिस ने सीसीटीवी और अन्य माध्यमों से तीन किन्नरों को अरेस्ट कर लिया है। बाकि पांच की तलाश चल रही है।

मंगलवार को शव पहुंचा तो कोहराम मच गया
सूरत के अपताल में जब बेटा जन्मा तो चित्तौड रहने वाले वाले दादी और दादी समेत पूरा परिवार खुश था। चित्तौडगढ के घर में पोते के स्वागत की तैयारी चल रही थी। लेकिन किसे पता था कि बुजुर्ग दम्पत्ति का सहारा गेहरी लाल ही अब नहीं रहा। मंगलवार को उसका शव जब गांव पहुंचा तो कोहराम मच गया। माता—पिता बेसुध हो गए और पूरा परिवाद सदमे में आ गया।

file picture

Updated On:
11 Sep 2019, 12:08:29 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।