जैविक खेती पर जागरूक करने दौड़े प्रचार रथ

By: chandra shekar pareek

Updated On:
10 Sep 2019, 06:47:31 PM IST

  • एक बड़े कृषि सुधार की तरफ मजबूत कदम बढ़ाते हुए राजस्थान सरकार की ओर से जैविक खेती को लेकर जागरूकता अभियान की शुरुआत हो गई है। कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने इसका शुभारंभ करते हुए प्रदेश के किसानों का आह्वान किया है।

कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने प्रदेश के काश्तकारों से जैविक खेती अपनाकर कम लागत में अधिक उत्पादन करने का आह्वान किया है। कटारिया ने मंगलवार सुबह यहां सिरसी रोड स्थित जनसुनवाई केन्द्र से जैविक खेती जागरूकता प्रचार रथ को हरी झंडी दिखाकर प्रगतिशील किसानों के समूह को रवाना किया।
रसायन घटा रहे उर्वरा शक्ति
कृषि मंत्री ने कहा कि वर्तमान में खेती में रसायनों का प्रयोग ज्यादा हो रहा है। इससे जमीन की उर्वरा शक्ति कम हो रही है और लोगों के स्वास्थ्य पर भी कुप्रभाव पड़ रहा है। चिकित्सकों का भी मानना है कि वर्तमान में कैंसर जैसी कई बीमारियां फसलों में कीटनाशक का अत्यधिक प्रयोग करने से हो रही है।

नेचरल फार्मिंग पर पूरा जोर
इससे बचने के लिए सरकार जैविक खेती को बढ़ावा दे रही है। जीरो बजटिंग नेचुरल फार्मिंग और जैविक खेती को बढ़ाने के लिए जनजागरूकता अभियान की शुरुआत की गई है।

भंवरसिंह के हाथों में कमान
9 नवम्बर तक चलने वाले इस अभियान के तहत भंवरसिंह पीलीबंगा के नेतृत्व में जैविक खेती के माध्यम से कम लागत में अच्छा उत्पादन ले रहे देश के विभिन्न जगहों के प्रगतिशील किसान प्रचार रथ के माध्यम से किसानों को जागरूक करेंगे।

किसानों से मिलकर समझाएंगे
यह समूह हर जिले में जाकर काश्तकारों से संवाद कर जैविक खेती से संबंधित अपने अनुभव साझा करेगा। कृषक गोष्ठियां और किसान मीट आयोजित कर जैविक खेती के लाभ बताएंगे।

कृषि मंत्री ने दिए मंत्र
कटारिया ने कहा कि किसान गोबर, केंचुए एवं हरी खाद का प्रयोग करें। कीटनाशक के स्थान पर नीम आदि जैविक पदार्थों का छिड़काव करें। इससे किसान के लागत कम आएगी, जमीन स्वस्थ रहेगी, उसकी उर्वरा शक्ति बनी रहेगी और आमजन को भी निरोग बनाने में मदद मिलेगी।

Updated On:
10 Sep 2019, 06:47:31 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।