इस युवा राइटर ने कहा, राइटिंग के प्रति पैशन ही मेरी हर प्रॉब्लम का हल है

By: Aryan Sharma

Published On:
Sep, 17 2018 12:42 AM IST

  • राइटर सुब्रत सौरभ ने शेयर किए अपने लाइफ एक्सपीरियंस

जयपुर. राइटर सुब्रत सौरभ ने अपनी बुक 'एंड वी वॉक्ड अवे' को लेकर रविवार को आयोजित इंटरेक्शन कार्यक्रम में कहा कि मैं राइटिंग के लिए हमेशा पैशनेट रहा हूं, लेकिन मैंने सबसे पहले अपनी स्टडी पर फोकस किया। हालांकि सोशल मीडिया पर मेरी राइटिंग का सफर हमेशा जारी रहा। इंटरनेट पर जब मेरी पोएट्री और राइटिंग लोगों को पसंद आने लगी तो जॉब में रहते हुए ही मैंने अपनी पहली पोएट्री बुक 'कुछ वो पल' पब्लिश करवाई। 'एंड वी वॉक्ड अवे' के बारे में सुब्रत ने कहा कि यह एक रोमांटिक नॉवेल है, जिसमें लव से लेकर मेल ईगो तक की कहानी बताने की कोशिश की है। खास बात यह है कि इस कहानी में रिलेशनशिप के उतार-चढ़ाव को अलग तरह से बयान करने का प्रयास किया है।
सिंपल होनी चाहिए लैंग्वेज
बकौल सुब्रत, मेरी पहली बुक 'कुछ वो पल' हिंदी पोएट्री थी। कई लोगों ने जब फीडबैक भेजे, तो समझ आया कि मेरा सरल भाषा में लिखना लोगों को पसंद आ रहा है। दरअसल, पहली बुक में मैंने एक स्टोरी को पोएट्री फॉर्म में लिखा था। जब लोगों ने यह बुक पढ़ी, तो उन्होंने कहा कि बुक की यूएसपी स्टोरीटेलिंग को आसान पोएट्री के जरिए समझाना है। इसी कारण दूसरी बुक में भी मैंने सिंपल इंग्लिश के शब्दों का ही यूज किया है ताकि मास लेवल पर लोग इसे फील कर पाएं।
'चिकन बिरयानी' ने किया मोटिवेट
सुब्रत का कहना था, 'मुझे 'चिकन बिरयानी' पसंद है, लिहाजा मैंने इस नाम से सोशल मीडिया पर लिखना शुरू किया, जिससे मुझे नेम और फेम, दोनों मिले हैं। हालांकि मेरे राइटिंग के पैशन को पूरा करने के लिए मुझे कई चैलेंजेज का सामना करना पड़ता है, मसलन वर्क-होम बैलेंस करने के साथ-साथ लगातार लिखना, लेकिन मेरा राइटिंग के प्रति पैशन ही मेरी हर प्रॉब्लम का हल है और इसके अलावा वाइफ और फैमिली सपोर्ट से मेरे लिए लिखना और भी आसान हो जाता है। दिन में ऑफिस वर्क और रात को अपनी राइटिंग का पैशन पूरा करता हूं।

Published On:
Sep, 17 2018 12:42 AM IST