हम कृष्ण के बताए मार्ग पर चल रहे हैं

By: Amit Pareek

Updated On:
25 Aug 2019, 08:50:27 AM IST

 
  • छत्तीसगढ़ के सीएम बघेल ने कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव को संबोधित किया

     

राजनांदगांव ( Rajnandgaon ) . मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) ने कहा कि प्रदेश सरकार ने भगवान कृष्ण (lord Krishna) के बताए मार्ग पर चलते हुए पशुधन की सेवा करने के लिए गरवा योजना शुरू की है। योजना के तहत प्रदेश के हर गांव में गौशाला बनाई जा रही है। गौशालाओं में मवेशियों के चारा, पानी और सुरक्षा के प्रबंध किए जा रहे हैं। गौशाला के रख-रखाव के लिए समितियां बनाई जाएंगी।
बघेल ने कहा कि हमारी सरकार ने भगवान कृष्ण के वंशजों की भी सुध ली है। हर गौशाला समिति को हर माह 10 हजार रुपए दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री बघेल आज यहां पद्मश्री गोविंदराम निर्मलकर ऑडिटोरियम में कोसरिया समाज राजनांदगांव द्वारा आयोजित कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव को संबोधित कर रहे थे। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि एयरपोर्ट पर राहुल गांधी को रोकना निंदनीय है।

गीता में हर कठिनाई से उबरने का ज्ञान

बघेल ने कहा कि गौशालाओं में एकत्र होने वाले गोबर से वर्मी खाद और कम्पोस्ट बनाई जाएगी, जिससे जैविक खेती को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण ने गीता में कर्म, भक्ति और ज्ञान योग की शिक्षा दी है। यह शिक्षा पूरे मानव समाज की भलाई के लिए है। मानव जीवन में कठिन से कठिन परिस्थिति से बाहर निकलने में भगवान कृष्ण के गीता में दिए गए उपदेश काम आते हैं। मुख्यमंत्री ने मीडिया से चर्चा करते हुए सी नगर में राहुल गांधी को रोके जाने की निंदा की।

मानव भलाई के लिए पशु संरक्षण जरूरी

मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने गौमाता को मां से भी बढ़कर बताया है। यह महात्मा गांधी का गौमाता के प्रति एक भाव है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मानव की भलाई के लिए पशुधन का संरक्षण एवं संर्वधन जरूरी है।

खुमरी पहनाकर किया स्वागत

कार्यक्रम में यादव समाज के प्रतिनिधियों द्वारा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री कव्वासी लखमा एवं अतिथियों को यादव समाज के परंपरागत प्रतीक के रूप में खुमरी एवं पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया गया। अतिथियों को पवित्र ग्रंथ गीता भी भेंट की गई। लखमा यदुवंशियों के साथ मंच पर नाचते भी दिखे।

Updated On:
25 Aug 2019, 08:50:27 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।