इसे कहते हैं पैरों तले जमीन खिसकना

By: Ankita Sharma

Updated On:
24 Aug 2019, 01:30:35 PM IST

 
  • - अचानक धंसी जमीन, समाता चला गया रेलकर्मी


- कोटा की रेलवे वर्कशॉप कॉलोनी का मामला

 

पैरों तले जमनी खिसकना किसे कहते हैं ये बीते दिन कोटा में देखने को मिला। यहां रेलवे वर्कशॉप कॉलोनी स्थित एक सरकारी आवास में अचानक जमीन धंस गई। हैरानी की बात तो ये है कि जमीन उस जगह से धंसी जहां रेलवेकर्मी खड़ा था। माल डिब्बा मरम्मत कारखाने में कार्यरत किशनलाल फौजदर रोज की तरह ड्यूटी पर जाने के लिए तैयार हुआ और बाहर निकल ही रहा था कि जमीन धंस गई और गहरा गड्ढा हो गया, जिसमें वह समाता चला गया। मुश्किल से खुद को बचाया और चिल्लाया तो पत्नी दौड़कर आई। खुद को बचाने में किशन के हाथ-पैर में चोट लग गई। थोड़ी देर बाद आस-पास के रेलकर्मी भी एकत्र हो गए। वे उन्हें अस्पताल ले गए। वहां से प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। घटना स्थल पर पहुंचे ऑल इंडिया एससी-एसटी रेलवे एम्पलॉइज यूनियन के मंडल अध्यक्ष मोहन सिंह ने बताया कि इस इलाके में बारिश में जलभरा होता है और जमीन कई जगह दलदल जैसी है। इसकी शिकायत कई बार रेल प्रशासन से की, लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया। इस घटना की सूचना किशनलाल फौजदार ने आवासों का रख रखाव करने वाले अधिकारियों की दी तो वे भी मौका देखने पहुंचे। शाम तक आवास की मरम्मत का कार्य शुरू होना तो दूर यह भी पता नहीं लग पाया कि जमीन अचानक क्यों धंसी। इस आवास का निर्माण वर्ष 1958 में किया गया था। तब से रेलकर्मी ऐसे ही आवासों में रह रहे हैं। कुछ दिन पहले इस इलाके में मगरमच्छ भी आ गया था। मौके पर पहुंचे इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों ने मरम्मत कराने और इसके कारण का निदान करने का आश्वासन दिया।

Updated On:
24 Aug 2019, 01:30:35 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।