अगले 72 घंटों में राजस्थान के कई इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी, जल्द छलक जाएगा बीसलपुर बांध!

By: dinesh

|

Updated: 13 Aug 2019, 11:49 AM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

जयपुर। मौसम विभाग ( IMD ) ने एक बार फिर से राजस्थान में मानसून ( monsoon ) के 15 तारीख तक रफ्तार पकडऩे की संभावना जताई है। विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी से सर्कुलेशन सिस्टम विकसित होने के साथ ही प्रदेश में भी मानसून रफ्तार पकड़ लेगा और झमाझम बारिश का दौर शुरू हो जाएगा। इसके चलते मौसम विभाग ( Rajasthan Weather Forecast ) ने पूर्वी राजस्थान समेत प्रदेश के 17 जिलों में भारी बारिश ( heavy rain ) का अलर्ट जारी किया है। ऐसे में आगामी दिनों में डेम में पानी की जबरदस्त आवक होने की उम्मीद जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने जताई है। अगर मौसम विभाग की ये संभावना सही साबित होती है तो जयपुर, अजमेर और टोंक जिले की लाइफ लाइन कहे जाने वाले बीसलपुर बांध ( Bisalpur dam ) में पानी की भारी आवक हो सकती है जिससे बांध के इस साल छलकने की पूरी संभावना दिख रही है। फिलहाल बांध का जल स्तर आज सुबह 8 बजे तक 310.27 आर एल मीटर हो गया है। मालूम हो कि बीसलपुर बांध की कुलभराव क्षमता 315.50 आरएल मीटर है। पिछले साल बांध का अधिकतम जलस्तर रहा 310.23 आरएल मीटर रहा था।

 

Read More : फिर जल उठा जयपुर! 10 थाना इलाकों में इंटरनेट बंद, कई वाहनों में तोडफ़ोड़, छावनी में तब्दील हुए कई इलाके


बीसलपुर बांध के केचमेंट एरिया में पडऩे वाले भीलवाड़ा जिले से सोमवार को हुई बारिश के चलते बनास नदी पर स्थित त्रिवेणी का गेज एक बार फिर बढकऱ 1.75 मीटर पर चल पड़ा है। त्रिवेणी ( Triveni River ) से हो रही बांध में पानी की आवक से बांध के गेज में बढ़ोतरी जारी है। बांध के कन्ट्रोल रूम के अनुसार सोमवार शाम 6 बजे तक बांध का गेज 12 सेमी की बढ़ोतरी के साथ 310.26 आर एल मीटर दर्ज किया गया था, जो मंगलवार सुबह 8 बजे तक 310.27 आर एल मीटर हो गया। वहीं रविवार शाम 8 बजे बांध का गेज 310.13 आर एल मीटर दर्ज किया गया था। बीसलपुर बांध का गेज गत वर्ष 30 सितम्बर तक महज 310.24 आरएल मीटर दर्ज किया गया था। इसी प्रकार बांध का गेज गत वर्ष के गेज के बराबर होने से आगामी बारिश के मौसम तक जयपुर की पेयजल समस्या से निजात की सम्भावना पूरी हो चुकी है। बांध में सोमवार तक 11.2 टीएमसी पानी भर चुका है।

 

Read More : Live Watch: वीडियो में देखिए कैसे उग्र भीड़ ने वाहनों को कर दिया आग के हवाले, हाथों में पत्थर, सरिए लिए कैसे फैलाई दहशत

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।