पूर्व IPS पंकज चौधरी को क्या मिलेगी राहत? नामांकन रद्द की अर्ज़ी को हाईकोर्ट ने किया स्वीकार

By: Nidhi Mishra

Published On:
Jul, 11 2019 03:08 PM IST

  • बाड़मेर—जैसलमेर लोकसभा सीट ( Barmer Jaisalmer Seat ) का नामांकन रद्द करने की अर्जी हाइकोर्ट में विचारार्थ स्वीकार कर ली गई है। पूर्व आईपीएस चौधरी ( IPS Pankaj choudhary ) ने ये अर्जी दी थी।

जयपुर। राजस्थान पुलिस के बर्खास्त आइपीएस पंकज चौधरी ( IPS Pankaj choudhary ) द्वारा बाड़मेर का नामांकन रद्द करने की जोधपुर हाईकोर्ट में लगाई अर्जी विचारार्थ स्वीकार कर ली गई है। चौधरी ने बुधवार को जयपुर में प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि चुनाव आयोग ( Election Commission of India ) ने उन्हें प्रमाण पत्र नहीं दिया। इसके चलते उनका नामांकन रद्द कर दिया गया। हाइकोर्ट में जाने पर आयोग ने प्रमाण पत्र दिया, लेकिन फिर उन्हें चुनावी प्रक्रिया में शामिल नहीं किया गया। आयोग की लापरवाही के विरोध में 6 जुलाई को हाइकोर्ट में अर्जी लगाई, जिसे स्वीकार कर लिया है। चौधरी ने बताया कि उन्होंने बाड़मेर लोकसभा ( Barmer Jaisalmer Seat ) का चुनाव रद्द करने की मांग की है।

 

 

गौरतलब है कि बसपा प्रत्याशी ( bsp candidate ) पंकज चौधरी ने नामंकन पत्र में सेवा से बर्खास्तगी के सबन्ध में निर्वाचन विभाग से सर्टिफिकेट नहीं लगाया गया था, जिसके चलते नामांकन पत्र निरस्त कर दिया गया था। उल्लेखनीय है कि पंकज चौधरी ने 8 अप्रेल 2019 को नामांकन दाखिल किया था। इस सीट से कांग्रेस से मानवेन्द्र सिंह ( manvendra singh ) और भाजपा से कैलाश चौधरी ( kailash choudhary ) मैदान में थे। लोकसभा चुनाव 2019 ( Loksabha election 2019 ) में बाड़मेर जैसलमेर से कैलाश चौधरी को जीत मिली थी।

 

HC Accepts Former IPS Pankaj Choudhary plea on Barmer Jaisalmer seat

अयोग्यता के प्रावधान के अन्तर्गत केंद्र या राज्य सरकार की ओर से भ्रष्टाचार या अन्य किसी भी आधार पर सेवा से बर्खास्त किए गए अधिकारी चुनाव नहीं लड़ सकते। इसको लेकर चुनाव आयोग ने पंकज चौधरी का नामांकन निरस्त कर दिया। बता दें कि पंकज चौधरी ने लोकसभा चुनाव लड़ने का एलान किया था। इसके बाद बसपा ने उन्हें बाड़मेर से टिकट देकर मैदान में उतारा था। वहीं बसपा से ही पंकज चौधरी की पत्नी मुकुल चौधरी को जोधपुर लोकसभा सीट से टिकट दिया था।

 

HC Accepts Former IPS Pankaj Choudhary plea on Barmer Jaisalmer seat

बढ़ सकती हैं मुश्किलें!
उल्लेखनीय है कि पूर्व आईपीएस की अर्जी को विचारार्थ स्वीकार करने के बाद यदि फैसला चौधरी के पक्ष में आता है, तो केंद्रीय राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ( Kailash Choudhary ) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। पंकज चौधरी के पक्ष में फैसला आने के बाद बाड़मेर—जैसलमेर लोकसभा सीट पर चुनाव रद्द हो सकता है। इसके बाद यहां पुन: चुनाव कराए जा सकते हैं। आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में बाड़मेर—जैसलमेर से बीजेपी ने कैलाश चौधरी को कांग्रेस के मानवेंद्र सिंह के सामने खड़ा किया था। कैलाश चौधरी ने ये चुनाव जीत लिया था।

 

गौरतलब है कि पंकज चौधरी ने गत अप्रेल अपने सोशल मीडिया अकांउट से एक वीडियो भी शेयर किया था। सुनिए क्या कह रहे हैं पूर्व IPS—

 

Published On:
Jul, 11 2019 03:08 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।