नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल की किसानों की संपूर्ण कर्ज माफी की मांग

By: Santosh Kumar Trivedi

Published On:
Jul, 17 2019 10:33 AM IST

  • मीण विकास, कृषि और किसान कल्याण विभाग की अनुदान मांगों की चर्चा में भाग लेते हुए नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने किसानों की कर्ज माफी, फसल बीमा योजना में सुधार व किसानों की आय बढ़ाने की मांग की।

जयपुर। ग्रामीण विकास, कृषि और किसान कल्याण विभाग की अनुदान मांगों की चर्चा में भाग लेते हुए नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल ने किसानों की कर्ज माफी, फसल बीमा योजना में सुधार व किसानों की आय बढ़ाने की मांग की।

 

बेनीवाल ने कहा कि देश में अन्न उत्पादन के अलावा देश की सीमा की रक्षाओं में किसानों के बेटों ने शहादत दी, इसलिए किसानों के लिए बहुत कुछ करने की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि किसानों के कल्याण के लिए मोदी ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना प्रारम्भ की।

 

कंपनियां प्रीमियम तो ले लेती है, लेकिन क्लेम नहीं देती। इन पर नियन्त्रण लगाया जाना चाहिए। किसानों की मासिक आय बढ़ाने के प्रयास होने चाहिए। उन्होंने कहा कि उद्योगपतियों का कर्ज माफ किया जा सकता है तो फिर किसानों की भी एक बार सम्पूर्ण कर्ज माफी होनी चाहिए।

 

प्रदेश के सरदारशहर ( चूरू ) के थाने में सात जुलाई को पुलिस हिरासत में युवक की मौत और महिला के साथ कथित दुष्कर्म के मामले को सांसद हनुमान बेनीवाल, राहुल कस्वां और सीपी जोशी ने शर्मनाक करार दिया है।

 

नागौर सांसद बेनीवाल ने मंगलवार को इस घटना की सीबीआइ से जांच करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इस घटना की जांच CBI से करवाकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दूध का दूध और पानी का पानी करना चाहिए। पुलिस अधीक्षक को हटाने से पीड़ित को न्याय नहीं मिलेगा जो भी दोषी है उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दिलवानी पड़ेगी। इस घटना को सुनकर लगता है कि पुलिस पर से विश्वास ही समाप्त हो चूका है।

 

विधायक भंवरलाल शर्मा के बयान पर बेनीवाल ने कहा कि वे किस आधार पर ये दावा कर रहे है क्या वो घटना के वक्त वहां मौजूद थे? केवल वोट बैंक से जुड़ी राजनीति के चलते ऐसे बयान दुर्भाग्यपूर्ण है। Rajasthan में कानून व्यवस्था का राज नहीं बचा हैए दिनदहाड़े हत्या और हाथ काटने जैसी घटनाएं सामने आ रही है। प्रदेश के हालात बदतर होते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी का प्रतिनिमंडल जल्द ही पीडि़ता से मुलाकात करेगा और न्याय की लड़ाई में पूर्णत: सहयोग देगा।

 

चित्तौडग़ढ़ सांसद ने भी उठाए मुद्दे
वहीं, चित्तौडगढ़़ सांसद सीपी जोशी ने कहा कि गहलोत सरकार के 6 माह के कार्यकाल में ऐसी-ऐसी घटनाएं सामने आई हैं जिससे लगातार प्रदेश लज्जित हो रहा है। जिस तरीके से थाने में देवर -भाभी को पुलिस की ओर से जो यातनाएं दी गई वो बेहद शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि ऐसी शर्मनाक घटना के बाद उसमें सत्तारूढ़ पार्टी के विधायक की ओर से की गई टिप्पणी अत्यंत शर्मसार करने वाली है।

 

कस्वां ने की उच्चस्तरीय जांच की मांग
चूरू सांसद राहुल कस्वां ने कहा कि वे इस घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे है। इस घटना का पूरा सच जनता के सामने आना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब से अशोक गहलोत ने प्रदेश की बागडोर सम्भाली है तबसे ही ऐसे मामलों में लगातार बढ़ोतरी हुई है। राजगढ़ में भी सरेआम हत्या का मामला सामने आया, इसके बाद यह घटना सामने आई है। वहीं सीकर सांसद स्वामी सुमेधानंद, राजसमंद सांसद दीया कुमारी, धौलपुर सांसद मनोज राजौरिया इस घटना पर बोलने से बचते नजर आए।

 

जैसलमेर की घटना को बेनीवाल ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण
राष्ट्रीय लोकतान्त्रिक पार्टी ( RLP ) संयोजक हनुमान बेनीवाल ने कहा कि जिस तरीके से जैसलमेर में सरेआम एक आदमी के हाथ काट दिए गए हाल ही में पूर्व मंत्री यूनुस खान के साथ टाटियावास टोल नाके पर मारपीट की गई। यह दर्शाता है कि प्रदेश में कानून का डर अपराधियों में समाप्त हो गया है। यह घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण हैं।

Published On:
Jul, 17 2019 10:33 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।