बच्चे चीखते रहे, दबंग डंडों से पीटते रहे

By: Ankita Sharma

Updated On:
10 Sep 2019, 02:40:54 PM IST

  • — बच्चों तक को नहीं बक्शा, मां सहित चार बच्चे गंभीर घायल

— बच्चे ग्रामीणों से मांगते रहे मदद, नहीं आया कोई आगे
— सार्वजनिक नाली में पानी डालने पर हुआ विवाद



धौलपुर के सैपऊ थाना इलाके में कुछ लोगों की दबंगई का ऐसा मामला आया कि देख और सुन सब हैरान रह गए। एक परिवार के पांच लोगों की दबंगों ने मामूली सी बात पर डंडों से इतनी पिटाई की कि उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ गया। दरअसल, गांव गुर्जा में सार्वजनिक नाली पर पानी डालने को लेकर गुस्साए पूर्व सरपंच व उसके साथियों के साथ देर शाम गांव के एक परिवार पर लाठियों से हमला बोल दिया। इस दौरान घर पर मौजूद एक महिला उसकी तीन बेटियां और एक बेटा मदद की लिए चिल्लाते रहे, ग्रामीणों से मदद मांगते रहे, लेकिन किसी ने भी उन्हें बचाने की हिम्मत नहीं की। दबंगों के इस हमले से ये पांचों गंभीर घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

हमले में घायल हुई बालिका अंजना ने बताया कि वह गांव गुर्जा की रहने वाली है और अपनी मां व बहन के साथ यहां रहती है। बालिका का आरोप है कि सोमवार देर शाम को सार्वजनिक नाली में पानी डाले जाने को लेकर घर के समीपवर्ती रहने वाले गांव के पूर्व सरपंच गोरेलाल अपने साथियों के साथ उनके घर पर आया और लाठियों से हमला कर दिया। इस दौरान घर पर मौजूद घायल बालिका की मां जानकीदेवी बहन चिक्की, काना व भाई लवकुश घायल हो गई। घायलों को एंबुलेंस से जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल बालिका अंजना ने बताया कि पूर्व सरपंच व उसके साथियों ने जब लाठियों से उसके परिवार पर हमला किया, इस दौरान गांव में रहने वाले किसी भी व्यक्ति की हिम्मत नहीं हुई कि वह आकर उन्हें बचा ले।
इस पूरे परिवार को डंडों से इतना मारा गया कि बच्चे दर्द से सिहर उठे। वे ठीक से चल तक नहीं पा रहे थे। वहीं उनकी आंखों के आंसु तक नहीं रुक रहे थे। पीड़ित परिवार का मुखिया पंजाब में नौकरी करता है।

Updated On:
10 Sep 2019, 02:40:54 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।