अलर्ट पर गुजरात! राजस्थान में जोरदार आंधी-तूफान के साथ बारिश की संभावना, इन इलाकों में चलेगी तेज रफ्तार हवाएं

By: Dinesh Saini

Updated On:
12 Jun 2019, 12:10:00 PM IST

  • Monsoon 2019 : तेज आंधी-भारी बारिश की आशंका में 10 जिलों के स्कूल 3 दिन बंद कर दिए गए हैं...

जयपुर।

गुजरात के तटीय इलाकों के लगभग 350 गांवों में 4 लाख लोगों पर अरब सागर में सक्रिय चक्रवात ‘वायु‘ ( Cyclone Vayu ) का खतरा मंडरा रहा है। साथ ही इससे मानसून ( Monsoon 2019 ) के दो दिन देर होने की आशंका है। ‘वायु’ चक्रवात का असर पूरे उत्तर भारत में पड़ेगा। मौसम विभाग ने राजस्थान ( Rajasthan Weather Forecast ) में भी चक्रवात से मौसम में बदलाव होने की आशंका जताई है। ‘वायु’ 120 किमी/घंटे की गति से गुजरात में टकरा सकता है। तेज आंधी-भारी बारिश की आशंका में 10 जिलों के स्कूल 3 दिन बंद कर दिए गए हैं। मंत्रियों को जिले में पहुंचने का निर्देश दिए गए है। सेना की 10 टुकड़ी तैनात की गई है। असआइएमडी के जलवायु अनुसंधान और सेवाओं के प्रमुख डी शिवानंद पई ने कहा कि चक्रवात के चलते मानसून की उत्तर की ओर प्रगति में रुकावट देखने को मिलेगी, विशेष रूप से आंतरिक क्षेत्र में। इससे पश्चिमी तट पर बारिश जारी रहेगी, लेकिन चक्रवात जाने के बाद आतंरिक भागों में 2-3 दिन इंतजार करना होगा।


राजस्थान में भी असर, मध्यम व तेज बारिश होने का अनुमान ( rain in rajasthan )
गुजरात में आने वाले चक्रवाती तूफान ‘वायु‘ के कारण ( Cyclone Effect in Rajasthan ) अगले 48 घंटे में प्रदेश के दक्षिण पश्चिमी जिले झालावाड़, बारां, कोटा, बूंदी, जालोर और बाड़मेर में 30—40 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से धूलभरी हवा ( dust storm ) चलने और कुछ इलाकों में मध्यम व तेज बारिश होने का अनुमान है। ऐसे में आगामी दिनों में प्रदेश के अधिकांश इलाकों में गर्मी के तेवर नरम रहना तय माना जा रहा है। प्रदेश में मंगलवार को भी मौसम का मिजाज अचानक से बदल गया। अरब सागर से दक्षिणी पश्चिमी हवा पहुंची तो कई जिलों में बूंदाबांदी हुई। जयपुर में एक घंटे में ही पारा 7.8 डिग्री गिर गया। दावा है कि बदलाव का असर तीन-चार दिन तक रह सकता है। वहीं अगले 24 घंटे में हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में बारिश और ओलावृष्टि होने की संभावना है। जिसके असर से प्रदेश के उत्तर पूर्वी इलाकों में आज गर्मी के तेवर नर्म रहने की संभावना है।


अंधड़ और बारिश ने लगाए पारे पर ब्रेक ( Thunderstorm in Rajasthan )
बीते 24 घंटे में प्रदेश के कई इलाकों में चले अंधड़ और बारिश के दौर ने बढ़ते पारे की रफ्तार पर ब्रेक लगा दिए। मंगलवार शाम कई इलाकों में तेज रफ्तार से चली धूलभरी हवा के साथ हुई बारिश से अधिकतम तापमान में करीब सात डिग्री सेल्सियस तक आई गिरावट ने प्रदेशवासियों को गर्म हवा और लू के थपेड़ों से राहत दिलाई। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश के दक्षिण पश्चिम के कुछ इलाकों को छोडकऱ शेष भागों में लू का दौर थम गया है। धौलपुर में भी बादल छाने से तापमान चार डिग्री गिरकर 47 पर पहुंच गया। चूरू में पारा तीन डिग्री गिरा और 47.3 डिग्री दर्ज हुआ। फलौदी प्रदेश का सबसे गर्म रहा जहां पारे ने 48.2 डिग्री में लोगों को झुलसाया। दूसरी तरफ पश्चिमी राजस्थान के कुछ भागों में आज भी भीषण गर्मी का दौर जारी रहने का अंदेशा है।

बीती रात प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में दिन के तापमान में हुई गिरावट के असर से रात में तापमान सामान्य रहा। आज सुबह भी राजधानी जयपुर समेत कई इलाकों में बादलों की आवाजाही रही और सूर्योदय होने के बावजूद गर्मी का असर कम महसूस हुआ। बीती रात हवा की रफ्तार थमने पर उमस से शहरवासी बेचैन रहे। जयपुर में आज सुबह छह बजे अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस रेकॉर्ड हुआ। स्थानीय मौसम केंद्र के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 48 घंटे में शहर में छितराए बादल छाए रहने और कुछ इलाकों में हल्की बारिश होने की संभावना है।

Updated On:
12 Jun 2019, 12:10:00 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।